वर्ल्ड डेस्क, अमर उजाला, वॉशिंगटन।
Updated Sat, 12 Dec 2020 09:12 PM IST

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹299 Limited Period Offer. HURRY UP!

ख़बर सुनें

अमेरिका कोरोना वायरस से जंग के लिए तैयार हो गया है। ताजा जानकारी के अनुसार, अमेरिकी सरकार दवा निर्माता कंपनी मॉडर्ना की बनाई गई कोरोना वैक्सीन की 10 करोड़ अतिरिक्त खुराक खरीदेगी। बता दें कि 10 करोड़ वैक्सीन खरीदने का ट्रंप प्रशासन कंपनी से पहले ही अनुबंध कर चुका है।अमेरिकी सरकार अब तक 20 करोड़ कोरोना वैक्सीन  का ऑर्डर कर चुका है।

कंपनी ने आधिकारिक बयान जारी कर बताया कि 10 करोड़ टीके के पहले समझौते के तहत दो करोड़ डोज दिसंबर अंत तक सरकार को उपलब्ध करा दी जाएगी। शेष आठ करोड़ डोज अगले वर्ष की पहली तिमाही तक उपलब्ध होगी। दूसरे अनुबंध के तहत 10 करोड़ डोज का वितरण सरकार को दूसरी तिमाही तक कर दिया जाएगा।

अमेरिकी स्वास्थ्य एवं मानव सेवा मंत्री एलेक्स अजार ने कहा कि जून, 2021 तक मॉडर्ना से 10 करोड़ अतिरिक्त वैक्सीन मिलना ऑपरेशन ‘वार्प स्पीड’ को और मजबूत करता है। इस नए अनुबंध से प्रत्येक अमेरिकी  को हम यह विश्वास दिला सकेंगे कि उसके लिए हमारे पास वैक्सीन है। मॉडर्ना ने वैक्सीन के आपातकालीन मंजूरी के लिए फूड एंड ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन में आवेदन कर रखा है।

94.1 फीसद प्रभावकारी है मॉडर्ना की वैक्सीन
बता दें कि मॉडर्ना वैक्सीन का परीक्षण तीसरे फेज के क्लीनिकल ट्रायल के साथ चल रहा है, जिसमें विभिन्न आयु और स्वास्थ्य स्थिति के कैंडिडेट का एक विस्तारित पूल शामिल है। 30 नवंबर को कंपनी ने वैक्सीन के प्राथमिक प्रभावकारिता विश्लेषण के परिणाम जारी किए थे, जिसमें 94.1 फीसद वैक्सीन प्रभावकारी पाई गई थी।

कंपनी इन देशों को भी देगी वैक्सीन 
अमेरिका के अलावा मॉडर्ना के पास कनाडा, जापान, इजरायल, स्विट्जरलैंड, कतर और यूनाइटेड किंगडम के साथ-साथ यूरोपीय संघ जैसे देशों के साथ 390 मिलियन से अधिक खुराक के लिए वैक्सीन आपूर्ति अनुबंध हैं।

बता दें कि कोरोना संक्रमण के मामले में अमेरिका नंबर एक पर बना हुआ है। अमेरिका में अब तक सबसे ज्यादा कोरोना के मामले सामने आए हैं। इसके बाद भारत दूसरे स्थान पर बना हुआ है। कोरोना वैक्सीन के चल रहे परीक्षण के बीच महामारी से निपटने के लि अब कुछ राहत भरी खबरे सामने आ रही हैं। 

अमेरिका कोरोना वायरस से जंग के लिए तैयार हो गया है। ताजा जानकारी के अनुसार, अमेरिकी सरकार दवा निर्माता कंपनी मॉडर्ना की बनाई गई कोरोना वैक्सीन की 10 करोड़ अतिरिक्त खुराक खरीदेगी। बता दें कि 10 करोड़ वैक्सीन खरीदने का ट्रंप प्रशासन कंपनी से पहले ही अनुबंध कर चुका है।अमेरिकी सरकार अब तक 20 करोड़ कोरोना वैक्सीन  का ऑर्डर कर चुका है।

कंपनी ने आधिकारिक बयान जारी कर बताया कि 10 करोड़ टीके के पहले समझौते के तहत दो करोड़ डोज दिसंबर अंत तक सरकार को उपलब्ध करा दी जाएगी। शेष आठ करोड़ डोज अगले वर्ष की पहली तिमाही तक उपलब्ध होगी। दूसरे अनुबंध के तहत 10 करोड़ डोज का वितरण सरकार को दूसरी तिमाही तक कर दिया जाएगा।

अमेरिकी स्वास्थ्य एवं मानव सेवा मंत्री एलेक्स अजार ने कहा कि जून, 2021 तक मॉडर्ना से 10 करोड़ अतिरिक्त वैक्सीन मिलना ऑपरेशन ‘वार्प स्पीड’ को और मजबूत करता है। इस नए अनुबंध से प्रत्येक अमेरिकी  को हम यह विश्वास दिला सकेंगे कि उसके लिए हमारे पास वैक्सीन है। मॉडर्ना ने वैक्सीन के आपातकालीन मंजूरी के लिए फूड एंड ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन में आवेदन कर रखा है।

94.1 फीसद प्रभावकारी है मॉडर्ना की वैक्सीन
बता दें कि मॉडर्ना वैक्सीन का परीक्षण तीसरे फेज के क्लीनिकल ट्रायल के साथ चल रहा है, जिसमें विभिन्न आयु और स्वास्थ्य स्थिति के कैंडिडेट का एक विस्तारित पूल शामिल है। 30 नवंबर को कंपनी ने वैक्सीन के प्राथमिक प्रभावकारिता विश्लेषण के परिणाम जारी किए थे, जिसमें 94.1 फीसद वैक्सीन प्रभावकारी पाई गई थी।

कंपनी इन देशों को भी देगी वैक्सीन 
अमेरिका के अलावा मॉडर्ना के पास कनाडा, जापान, इजरायल, स्विट्जरलैंड, कतर और यूनाइटेड किंगडम के साथ-साथ यूरोपीय संघ जैसे देशों के साथ 390 मिलियन से अधिक खुराक के लिए वैक्सीन आपूर्ति अनुबंध हैं।

बता दें कि कोरोना संक्रमण के मामले में अमेरिका नंबर एक पर बना हुआ है। अमेरिका में अब तक सबसे ज्यादा कोरोना के मामले सामने आए हैं। इसके बाद भारत दूसरे स्थान पर बना हुआ है। कोरोना वैक्सीन के चल रहे परीक्षण के बीच महामारी से निपटने के लि अब कुछ राहत भरी खबरे सामने आ रही हैं। 

.



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: