भारत के सलामी बल्लेबाज रोहित शर्मा (फाइल फोटो)

Ind Vs Aus: भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच 4 टेस्ट मैचों की सीरीज़ का पहला मैच एडिशड में 17 दिसंबर से शुरू हो रहा है। इंगरी के चलते रोहित को पहले दो टेस्ट के लिए टीम में नहीं चुना गया था।

  • News18Hindi
  • आखरी अपडेट:
    12 दिसंबर, 2020, सुबह 8:34 बजे IST

नई दिल्ली। नैशनल क्रिकेट एकेडमी (NCA) से रोहित शर्मा (रोहित शर्मा) की फिट को हरी झंडी मिल गई है। अब हर किसी को इस बात का इंतजार है कि आखिरकार रोहित कब ऑस्ट्रेलिया (ऑस्ट्रेलिया) पहुंचेंगे और वो कब ट्रेनिंग करेंगे। अगले कुछ दिनों में रोहित ऑस्ट्रेलिया के लिए उड़ान भर सकते हैं। हांलाकि बीसीसीआई की तरफ अब तक रोहित के ऑस्ट्रेलिया जाने को लेकर कोई अधिकारिक बयान नहीं आया है। लेकिन ये लगभग तय है कि रोहित ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ आखिरी दो टेस्ट मैच में खेलेंगे।

मेलबर्न या फिर सिडनी
रोहित शर्मा को मेलबर्न भेजा जाए या फिर सिडनी इसको लेकर अब बीसीसीआई के अधिकारी माथापच्ची कर रहे हैं। वास्तव में कोरोनावायरस के संक्रमण के कारण रोहित का ऑस्ट्रेलिया जाने का प्लान फंसा है। दरअसल कोरोना प्रोटोकॉल के तहत उन्हें ऑस्ट्रेलिया पहुंचते ही 14 दिनों के क्वारंटीन में रहना होगा। अगर रोहित अगले दो दिनों में ऑस्ट्रेलिया पहुंच जाते हैं तो फिर उनका क्वारंटीन 28 दिसंबर तक खत्म हो सकता है। जबकि ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ तीसरा टेस्ट मैच 7 जनवरी से सिडनी में खेला जाएगा।

ये भी पढ़ें: – जन्मदिन पर छलका युवराज सिंह का दर्द, बोले- पिता के ‘हिंदू’ वाले विवादित बयान से आहत हूंआखिरकार मेलबर्न क्यों?
मेलबर्न में 26 से 30 दिसंबर तक दूसरा टेस्ट मैच खेला जाएगा। ऐसे में बीसीसीआई के अधिकारी चाहते हैं कि रोहित सीधे मेलबर्न पहुंचे। ऐसे में वे टीम के बाकी सदस्यों के साथ जल्दी जुड़ सकते हैं। अंग्रेजी पत्र मिड से बातचीत करते हुए बीसीसीआई के ट्रेजरार अरुण धुमल ने कहा, ‘बीसीसीआई को अभी तक यह फैसला करना बाकी है कि आखिर उन्हें कहां भेजा जाए, मेलबर्न या सिडनी? रोहित ऑस्ट्रेलिया पहुंचे टीम इंडिया के सपोर्ट स्टाफ के संपर्क में रहें। वो क्वारंटीन के दौरान अपनी ट्रेनिंग करेंगे। बेहतर होगा कि वो मेलबर्न पहुंचे। लेकिन टीम के सपॉर्ट स्टाफ इस चीज़ को बेहतर तरीके से बता सकते हैं ‘





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: