सचिन तेंदुलकर सकलैन की गेंद पर आउट हो गए थे (फाइल फोटो)

चेन्‍नई टेस्‍ट में टीम इंडिया (टीम इंडिया) की जीत के काफी मायने थे, लेकिन केवल सचिन तेंदुलकर (सचिन तेंदुलकर) का विकेट गिर गया और टीम काफी करीबी अंतर से मुकाबला हार गई।

नई दिलवाली। फिल्मसतान के दिग्‍गज गेंदबाज वसीम अकरम (वसीम अकरम) ने खुलासा किया कि 1999 में भारत दौरे पर महान बल्लीले सचिन तेंदुलकर (सचिन तेंदुलकर) को आउट करने के लिए उनकी टीम ने खास रणनीति बनाई थी। 1999 में अकरम की अगुआई में नोआस्त्ान की टीम भारत दौरे पर आई थी और दोनों टीमों के बीच चेन्‍नई में खेले गए टेस्‍ट मैच को आज भी फैंस नहीं भूल पाए हैं। जहां सचिन ने 136 रनों की पारी खेली थी, वहीं हरियाणा में इस मैच में जीत दर्ज करने में सफल रहा था।
वसीम अकरम ने खुलासा किया कि सचिन को आउट करने के लिए उन्होंने कहा और सकलैन मुरसताक ने खास रणनीति बनाई थी और वह सफल भी हुए थे। चेन्‍नई टेस्‍ट में सचिन 136 रन पर खेल रहे थे और टीम इंडिया जीत से सिर्फ 17 रन दूर थी। लेकिन केवल हेट्रिक गिर गया। सकलैन के दूसरे पर अकरम ने उनका कैच लपक लिया। इस मैच के पहले पारी में सकलैन ने सचिन को डक किया था।

सकलैन को गुडे से पढ़ रहे थे सचिन

वसीम अकरम ने पूर्व भारतीय सलामी बल्लीले आकाश आकाश चोपड़ा से यूट्यूब पर बातचीत में बताया कि उन्हें आज आज भी लगता है, जैसे यह मैच कल की ही बात है। उनमेंसे 1987 में बैंगलोर में खेला गया टेस्ट मैच यादगार है, जिसमें सुनील गावसकर ने लगभग 90 रन बनाए थे और फिर चेतन्य टेस्ट थे। अकरम ने कहा कि यह एक ऐसा टैस्ट मैच था, जो निर्णायक दिन में था। भारत को शायद 20 रन के लगभग चाहिए थे। सचिन और मोंगिया के बीच भली पार्टनरशिप हो रही थी। सचिन सकल्पन को भलाई तरह से बढ़ रहे थे और सचिन उनके दूसरे को भी पढ़ रहे थे।करम ने कहा कि जीत के लिए 271 रनों की जरूरत थी और भारत ने 82 रन पर ही पांच विकेट गंवा दिए थे और ऐसे समय में सचिन और नियम मोंगिया ने छठे विकेट के लिए शतकीय साझेदारी की। अकरम ने मोंगिया को तेजी से गोली चलाने के लिए मजबूर किया। उन्होंने कहा कि अगर उस समय मोंगिया सचिन के साथ होते हैं तो परिणाम कुछ और होता है। उन्हें उसी समय टीम को कह दिया गया था कि यही मौका है, जब सचिन को आउट कर सकते हैं। इसके बाद सकलैन उनके पास आए और उन्होंने कहा कि एक ले सकते हैं, जिससे सचिन उनके जाल में फंस गए।

जब सचिन बाहर निकले तो सभी बाउंड्री पर थे। बस वहीं एक्टिस्ट कवर पर थे। अकरम ने सकलैन को दूसरा फेंकने के लिए कहा, यह जानता है कि इस गेंद पर छक्का लग सकता है और मास््टर ब्लास्टर मिड विकेट के ऊपर से मारेंगे। सकलैन ने गेंद को मिडिल और लेग पर फेंका और सचिन खेलने के लिए आगे आए। उनके बुल्ले का ऊपरी किनारा लगा और गेंद अकरम के हाथों में चली गई। भारतीसतान ने कहा कि यह मुकाबला अपने नाम कर लिया था।

धोनी के नए लुक से हैरान फैंस, कहा- शेर बूढ़ा हो गया पर शिकार करने नहीं भूला

लॉकडाउन के बीच कोहली को दिखा खिलाड़ियों का ‘असली रंग’, कहा- कभी सोचा नहीं था ।।

News18 हिंदी सबसे पहले हिंदी समाचार हमारे लिए पढ़ना यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें। देखिए क्रिकेट से संलग्न लेटेस्ट समाचार।

प्रथम प्रकाशित: 11 मई, 2020, 2:12 PM IST


इस दिवाली बंपर अधिसूचना
फेस्टिव सीजन 75% की एक्स्ट्रा छूट। सिर्फ 289 में एक साल के लिए सब्सक्राइब करें करें डेड कंट्रोल प्रो।कोड कोड: DIWALI ऑफ़र: 10 नवंबर, 2019 तक

->





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: