• गुरुवार को बैंक ने दर्ज किया था 2,629 करोड़ का मुनाफा
  • बैंक ने 6,296 करोड़ रुपये के कर्ज को किया था

दैनिक भास्कर

08 मई, 2020, 07:05 अपराह्न IST

मुंबई। सेंट्रल सेक्टर का चौथा सबसे बड़ा बैंक यस बैंक आनेवाले समय में 5,000 करोड़ रुपये की पूंजी जुटा सकता है। बैंक ने इसके लिए 6 मर्चेंट बैंकर्स की नियुक्ति भी कर दी है।

बैंक क्यूआईपी, राइट्स इश्यू और प्रफरेंशियल इश्यू का ले विकल्प हो सकता है

जानकारी के मुताबिक यस बैंक पूंजी जुटाने के दूसरे चरण को जल्द ही शुरू कर सकता है। इसके तहत बैंक 5,000 करोड़ रुपए की पूंजी जुटाने का लक्ष्य रखा गया है। बैंक इट बूम क्यूआईपी, राइट्स इस्यू और प्रफरेंशियल इश्यू जैसे तमाम विकल्पों के जरिए जुटा हो सकता है। सूत्रों के मुताबिक बैंक ने इसके लिए जिन 6 मर्चेंट बैंकर्स को नियुक्त किया है उसमें एक्सिस कैपिटल, कोटक इनवेस्टमेंट बैंकिंग, एसबीआई बैंक, बैंक ऑफ अमेरिका, सिटी और एचएसबीसी कैपिटल मार्केट है।

15,000 करोड़ रुपए के निवेश को बैंक की मंजूरी मिल गई है

बैंक ने 15,000 करोड़ रुपये की पूंजी जुटाने को मंजूरी दी है। इस पैसे के बाद बैंक की पूंजी की जरूरतें अगले तीन साल तक पूरी हो जाएंगी। बता दे कि यस बैंक को वित्त वर्ष 2020 में 16,418 करोड़ रुपये का घाटा हुआ है। हालांकि 7 मई को बैंक ने बताया कि मार्च तिमाही में उसे 6,296 करोड़ रुपये का बकाया चुकाने के बाद 2,629 करोड़ रुपये का भुगतान हुआ था। जबकि वित्त वर्ष 2018-19 में बैंक को 1720.27 करोड़ रुपये का मुनाफा हुआ था। बैंक का 63 प्रतिशत निवेश नॉन-परफॉर्मिंग निवेश में बदल चुका है। वित्त वर्ष 2020 के दौरान बैंक का कुल एनपीए 32788.59 करोड़ रुपये तक पहुंच गया है, जो उसके कुल ऋण वितरण का 16.9 प्रतिशत है।

इस साल शेयरों में भारी गिरावट आई है

यस बैंक के शेयर इस साल अब तक 39.40 फीसदी तक लुढ़क चुके हैं। अप्रैल महीने में बैंक के शेयरों में 24.28 प्रति की रिकवरी दर्ज की गई है। हालांकि, बैंक के शेयर अपने ऑल टाइम हाई लेवल (18 अगस्त 2018) 404 रुपए प्रति शेयर के मुकाबले 92.98 फीसदी नीचे कारोबार कर रहे हैं। इस समय बिसाई में बैंक का बाज़ार कैपिटलाइजेशन 35,643 करोड़ रुपये के लगभग है।





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: