ब्ल्यूहो के निदेशक टेड्रेस अधनोम ग्रेब्रेसियस
– फोटो: ट्विटर

ख़बर सुनता है

विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने शुक्रवार को कहा कि चीन के वुहान मार्केट ने पिछले साल को विभाजित -19 के संक्रमण को फैलाना में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। हालांकि संगठन ने कहा कि हमें इस बारे में अभी और विस्तार से स्पष्ट होना चाहिए। माना जा रहा है कि कोरोनावायरस की शुरुआत चीन के वुहान से हुई है। पिछले साल नवंबर में कोविद -19 संक्रमण का पहला मामला यहां के मांस बाजार में पाया गया था।

चीनी अधिकारियों ने वायरस के प्रसार को रोकने के लिए जनवरी में बाजार बंद करने का फैसला लिया था और वन्यजीवों के व्यापार और खपत पर अस्थाई प्रतिबंध लगाने का आदेश दिया था। संगठन ने कहा कि यह स्पष्ट है कि वुहान के बाजार ने संक्रमण के प्रसार में भूमिका निभाई है, लेकिन किस तरह की यह अभी तक साफ नहीं है।

डब्ल्यूएचओ के पशुरोग विशेषज्ञ पपेन ने कहा कि यह एक महज संयोग भर था कि वुहान के बाजार के आसपास पहले कुछ मामलों का पता चला था। उन्होंने कहा कि यह स्पष्ट नहीं है कि जीवित या हानिकारक दुकानदार ने वायरस को बाजार में लाया था।

अमेरिका के सचिव माइक पोंपियों ने कहा था कि इस बात के पूरे सबूत हैं कि कोविद -19 का वायरस वुहान के किसी अरब में फैला था। हालांकि जर्मनी की खुफिया रिपोर्ट ने पोंपियो के आरोप पर संदेह जताया है। कोविद -19 किसी रिलायंस से फैला है यह बात का कोई प्रमाण नहीं है। वुहान के वैज्ञानिकों ने कहा था कि यह प्रकृतिक रूप से फैला है।

पत्नीने ने आरोपों पर कोई जवाब नहीं दिया। उन्होंने कहा कि ऊंटों को एमईआरएस (मिडल ईस्ट रेस्पिरेटरी वेर) के वायरस के स्रोत के रूप में पहचानने के लिए शोधकर्ताओं को एक साल लग गया था। कोरोनावायरस के स्रोत को पहचानने के लिए अभी देर नहीं हुई है। पत्न ने कहा कि कोरोना ऐसे वायरस के समूह से ताल्लुक रखता है, जिसकी उत्पत्ति और संक्रमण दोनों जानवरों में हुई है, लेकिन यह इंसानों में कितना फैला है इस पर रिसर्च के नतीजे आने बाकी हैं।

विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने शुक्रवार को कहा कि चीन के वुहान मार्केट ने पिछले साल को विभाजित -19 के संक्रमण को फैलाना में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। हालांकि संगठन ने कहा कि हमें इस बारे में अभी और विस्तार से स्पष्ट होना चाहिए। माना जा रहा है कि कोरोनावायरस की शुरुआत चीन के वुहान से हुई है। पिछले साल नवंबर में कोविद -19 संक्रमण का पहला मामला यहां के मांस बाजार में पाया गया था।

चीनी अधिकारियों ने वायरस के प्रसार को रोकने के लिए जनवरी में बाजार बंद करने का फैसला लिया था और वन्यजीवों के व्यापार और खपत पर अस्थाई प्रतिबंध लगाने का आदेश दिया था। संगठन ने कहा कि यह स्पष्ट है कि वुहान के बाजार ने संक्रमण के प्रसार में भूमिका निभाई है, लेकिन किस तरह की यह अभी तक साफ नहीं है।

डब्ल्यूएचओ के पशुरोग विशेषज्ञ पपेन ने कहा कि यह एक महज संयोग भर था कि वुहान के बाजार के आसपास पहले कुछ मामलों का पता चला था। उन्होंने कहा कि यह स्पष्ट नहीं है कि जीवित या हानिकारक दुकानदार ने वायरस को बाजार में लाया था।

अमेरिका के सचिव माइक पोंपियों ने कहा था कि इस बात के पूरे सबूत हैं कि कोविद -19 का वायरस वुहान के किसी अरब में फैला था। हालांकि जर्मनी की खुफिया रिपोर्ट ने पोंपियो के आरोप पर संदेह जताया है। कोविद -19 किसी रिलायंस से फैला है यह बात का कोई प्रमाण नहीं है। वुहान के वैज्ञानिकों ने कहा था कि यह प्रकृतिक रूप से फैला है।

पत्नीने ने आरोपों पर कोई जवाब नहीं दिया। उन्होंने कहा कि ऊंटों को एमईआरएस (मिडल ईस्ट रेस्पिरेटरी वॉर्म) वायरस के स्रोत के रूप में पहचानने के लिए शोधकर्ताओं को एक साल लग गया था। कोरोनावायरस के स्रोत को पहचानने के लिए अभी देर नहीं हुई है। पत्न ने कहा कि कोरोना ऐसे वायरस के समूह से ताल्लुक रखता है जिसकी उत्पत्ति और संक्रमण दोनों जानवरों में हुई है, लेकिन यह इंसानों में कितने खिंचाव इस पर रिसर्च के नतीजे आने बाकी हैं।





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: