न्यूज डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली
अपडेटेड शुक्र, 08 मई 2020 08:43 PM IST

सांकेतिक चित्र
– फोटो: फोरस्टॉक्स

ख़बर सुनता है

विदेशों में फंसे भारतीय नागरिकों को अपने देश वापस लाने के लिए भारत सरकार द्वारा शुरू किए गए वंदे भारत मिशन का दूसरा चरण 15 मई से शुरू होगा। आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि इस चरण में अभियान का विस्तार किया जाएगा और मध्य एशिया के साथ विभिन्न यूरोपीय देशों में फंसे भारतीय नागरिकों को वापस लाया जाएगा।

सूत्रों ने कहा कि भारत अगले सप्ताह अपने इस मिशन का विस्तार करेगा ताकि कजाकिस्तान, उज्बेकिस्तान, रूस, जर्मनी, स्पेन और थाईलैंड आदि देशों में फंसे भारतीयों को वापस लाया जा सके। पहले चरण में सात से 15 मई के बीच 12 देशों से लगभग 15,000 लोगों की वापसी होगी। इसके लिए 64 उड़ानों का संचालन होगा।

ढाका से श्रीनगर पहुंचे 167 छात्र, सिंगापुर से दिल्ली आए 234 भारतीय

इससे पहले मिशन के तहत एयर इंडिया का एक विमान सिंगापुर में फंसे भारतीयों को लेकर शुक्रवार सुबह दिल्ली हवाईअड्डे पर उतरा। वहीं, बांग्लादेश में फंसे जम्मू-कश्मीर के छात्र-छात्राओं को लेकर ढाका से पहला विमान भी श्रीनगर पहुंचा। एयरलाइन के वरिष्ठ अधिकारियों ने बताया कि सिंगापुर से 234 यात्री और बांग्लादेश से 167 छात्र-छात्राओं को लाया गया है।

नौसेना का ऑपरेशन समुद्रसेतु, मालदीव से देश वापस आए भारतीय

दूसरी ओर विदेशों में फंसे भारतीयों को समुद्र के रास्ते वापस लाने के लिए भारतीय नौसेना द्वारा शुरू किए गए ऑपरेशन समुद्रसेतु के तहत नौसेना के पोत जलेश से मालदीव में फंसे भारतीय नागरिकों का पहला समूह आज भारत लाया गया। सूत्रों ने बताया कि इसके बाद भारतीय नौसेना का पोत आईन्ट्स जलेश लगभग 700 लोगों के साथ शुक्रवार दोपहर माले से कोच्चि के लिए रवाना हो चुका है।

विदेशों में फंसे भारतीय नागरिकों को अपने देश वापस लाने के लिए भारत सरकार द्वारा शुरू किए गए वंदे भारत मिशन का दूसरा चरण 15 मई से शुरू होगा। आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि इस चरण में अभियान का विस्तार किया जाएगा और मध्य एशिया के साथ विभिन्न यूरोपीय देशों में फंसे भारतीय नागरिकों को वापस लाया जाएगा।

सूत्रों ने कहा कि भारत अगले सप्ताह अपने इस मिशन का विस्तार करेगा ताकि कजाकिस्तान, उज्बेकिस्तान, रूस, जर्मनी, स्पेन और थाईलैंड आदि देशों में फंसे भारतीयों को वापस लाया जा सके। पहले चरण में सात से 15 मई के बीच 12 देशों से लगभग 15,000 लोगों की वापसी होगी। इसके लिए 64 उड़ानों का संचालन होगा।

ढाका से श्रीनगर पहुंचे 167 छात्र, सिंगापुर से दिल्ली आए 234 भारतीय

इससे पहले मिशन के तहत एयर इंडिया का एक विमान सिंगापुर में फंसे भारतीयों को लेकर शुक्रवार सुबह दिल्ली हवाईअड्डे पर उतरा। वहीं, बांग्लादेश में फंसे जम्मू-कश्मीर के छात्र-छात्राओं को लेकर ढाका से पहला विमान भी श्रीनगर पहुंचा। एयरलाइन के वरिष्ठ अधिकारियों ने बताया कि सिंगापुर से 234 यात्री और बांग्लादेश से 167 छात्र-छात्राओं को लाया गया है।

नौसेना का ऑपरेशन समुद्रसेतु, मालदीव से देश वापस आए भारतीय

दूसरी ओर विदेशों में फंसे भारतीयों को समुद्र के रास्ते वापस लाने के लिए भारतीय नौसेना द्वारा शुरू किए गए ऑपरेशन समुद्रसेतु के तहत नौसेना के पोत जलेश से मालदीव में फंसे भारतीय नागरिकों का पहला समूह आज भारत लाया गया। सूत्रों ने बताया कि इसके बाद भारतीय नौसेना का पोत आईन्ट्स जलेश लगभग 700 लोगों के साथ शुक्रवार दोपहर माले से कोच्चि के लिए रवाना हो चुका है।





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: