अमेरिका में मुफ्त में आलू बांट रहे किसान
– फोटो: सोशल मीडिया

ख़बर सुनता है

अमेरिका के किसानों ने खाने की बर्बादी को रोकने के लिए बड़ा कदम उठाया है। वहाँ के किसानों ने आलू को खेत में ही छोड़ दिया है या उसे मुफ्त में बांट रहे हैं। आलू लेने वाले लोगों की लंबी दौड़ शुरू हुई हैं। कोरोनावायरस महामारी की वजह से किसानों के पास अपनी फसल बेचने के लिए कम ही विकल्प बचे हैं ऐसे में वे मुफ्त में लोगों को आलू बांट रहे हैं।

एक किसान ने गुरुवार को पश्चिमी वाशिंगटन राज्य के एक मॉल के बाहरी आलू से भरे ट्रक लगाए तो मुप्त में आलू लेने के लिए कारों की लंबी कतार लग गई। वाशिंगटन आलू कमिशन ने कहा कि लगभग एक अरब पाउंड आलू जिस पर आमतौर पर फ्रेंच फ्राइज और हैश ब्राउन में इस्तेमाल किया जाता है, गोदामों के पास है। ये गोदाम आमतौर पर जुलाई की फसल के आगे खाली हो जाते हैं।

उन्होंने बताया कि आलू को बांटने के सिवा कोई दूसरा विकल्प नहीं बचा है। एक बार में 100,000 पाउंड आलू बांटने के लिए दिए जा रहे हैं। मार्केटिंग कमिशन के निदेशक ब्रांडी टकर ने कहा, चार्ल्सटन में हर किसी को अब चार जुलाई तक लगभग 500 पाउंड आलू खाने होंगे।

वाशिंगटन के लगभग 90 प्रतिशत आलू को खाद्य सेवा में इस्तेमाल किया जाता है जोकि आंतरिक क्षेत्रों का लगभग आधा है। यूरोप में आलू उत्पादकों को भी भारी मात्रा में नुकसान का सामना करना पड़ा है। आयोग मई के अंत तक आलू दान करने के एक दर्जन से अधिक कार्यक्रमों की योजना बना रहा है।

वाशिंगटन के किसान एडम वेबर का कहना है कि आलू को फेंकने से बेहतर है कि उन्हें ऐसे ही छोड़ दिया जाए। उन्होंने कहा कि इस बार आलू की फसल पर भारी नुकसान हुआ है। प्रति टन आलू की कीमत 200 डॉलर से गिरकर 30 डॉलर तक रह गई है। अगली बार वे कम आलू की खेती करेंगे।

अमेरिका के किसानों ने खाने की बर्बादी को रोकने के लिए बड़ा कदम उठाया है। वहाँ के किसानों ने आलू को खेत में ही छोड़ दिया है या उसे मुफ्त में बांट रहे हैं। आलू लेने वाले लोगों की लंबी दौड़ शुरू हुई हैं। कोरोनावायरस महामारी की वजह से किसानों के पास अपनी फसल बेचने के लिए कम ही विकल्प बचे हैं ऐसे में वे मुफ्त में लोगों को आलू बांट रहे हैं।

एक किसान ने गुरुवार को पश्चिमी वाशिंगटन राज्य के एक मॉल के बाहरी आलू से भरे ट्रक लगाए तो मुप्त में आलू लेने के लिए कारों की लंबी कतार लग गई। वाशिंगटन आलू कमिशन ने कहा कि लगभग एक अरब पाउंड आलू जिस पर आमतौर पर फ्रेंच फ्राइज और हैश ब्राउन में इस्तेमाल किया जाता है, गोदामों के पास है। ये गोदाम आमतौर पर जुलाई की फसल के आगे खाली हो जाते हैं।

उन्होंने बताया कि आलू को बांटने के सिवा कोई दूसरा विकल्प नहीं बचा है। एक बार में 100,000 पाउंड आलू बांटने के लिए दिए जा रहे हैं। मार्केटिंग कमिशन के निदेशक ब्रांडी टकर ने कहा, चार्ल्सटन में हर किसी को अब चार जुलाई तक लगभग 500 पाउंड आलू खाने होंगे।

वाशिंगटन के लगभग 90 प्रतिशत आलू को खाद्य सेवा में इस्तेमाल किया जाता है जोकि आंतरिक क्षेत्रों का लगभग आधा है। यूरोप में आलू उत्पादकों को भी भारी मात्रा में नुकसान का सामना करना पड़ा है। आयोग मई के अंत तक आलू दान करने के एक दर्जन से अधिक कार्यक्रमों की योजना बना रहा है।

वाशिंगटन के किसान एडम वेबर का कहना है कि आलू को फेंकने से बेहतर है कि उन्हें ऐसे ही छोड़ दिया जाए। उन्होंने कहा कि इस बार आलू की फसल पर भारी नुकसान हुआ है। प्रति टन आलू की कीमत 200 डॉलर से गिरकर 30 डॉलर तक रह गई है। अगली बार वे कम आलू की खेती करेंगे।





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: