वर्ल्ड डेस्क, अमर उजाला, मियामी
अपडेटेड शुक्र, 08 मई 2020 10:50 AM IST

होटल शिप (प्रतीकात्मक चित्र)
– फोटो: एएनआई

ख़बर सुनता है

कोरोनावायरस से जहां पूरी दुनिया प्रभावित है वहीं द्वीप उद्योग पर इसका काफी बुरा असर पड़ा है। होटल जहाजों को किसी बंदरगाह को इस्तेमाल करने की इजाजत नहीं मिल रही है और उन्हें यह भी पता नहीं है कि वे कब दोबारा समुद्र में चले गए हैं। जहां यात्री अपने घर में रहते हैं। वहीं चालक दल के सदस्य समुद्र में ही फंसे हुए हैं।
बहुत से सदस्यों को तनख्वाह भी नहीं मिली है क्योंकि उनका अनुबंध समाप्त हो गया है। कुछ के पास इंटरनेट की सुविधा नहीं है, वे तनाव से ग्रस्त हैं और कुछ ने अपने मालिकों के खिलाफ मामला दर्ज किया है। सेलिब्रिटी इनफिनिटी में काम करने वाले बार्सिलोना के 31 साल के डीजे कायो साल्दान्हा ने कहा, ‘हम कैदी हैं। मुझे मदद करनी चाहिए। हमें मदद करनी चाहिए। हमें घर जाने के लिए लड़ाई लड़नी होगी। ‘

साल्दान्हा अपनी 29 साल की गर्लफ्रेंड जेसिका फुरलान के साथ एक टैक्सी में रहती हैं। फुरलान के यात्रियों के लिए जहाज पर गतिविधियों को आयोजित करने का काम करता है। 13 मार्च को अमेरिकी अधिकारियों ने वायरस के बढ़ते प्रसार को देखते हुए नो सेल आदेश जारी किया था। यात्रियों को जहाज से उतरवा दिया गया।

हालांकि जहाज पर मौजूद चालक दल के सदस्यों को वहाँ रहने के लिए कहा गया है। जिसके बाद से वे वहीं फंसे हुए हैं। अमेरिकी तटरक्षक बल ने कहा कि अमेरिका या उसके आस-पास मनोरंजन में 100 से अधिक जहाज खड़े हैं जिसमें 70,000 चालक दल मौजूद हैं। फुरलान ने कहा, ‘हम घर जाने के लिए बेताब हैं।’ किसी को इस बात का पता है कि वे तीन सप्ताह से अपने टैक्सी के अंदर बंद हैं और 24 अप्रैल से उन्हें तनख्वाह मिलने बंद हो गई है।

जो लोग काम कर रहे हैं जैसे कि Boic, क्लीनर्स, खानसामा उन्हें अब भी पैसा मिल रहा है लेकिन जिनके काम यात्रियों का मनोरंजन करना था उन्हें पैसे मिलना बंद हो गया है। बहुत से कर्मचारियों का अनुबंध खत्म हो गया है। जिस कारण उन्हें पैसा नहीं मिल रहा है। होटल ऐसे लोगों को उन्हें जहाज में रहने को कमरा तो दे रहा है लेकिन बाकी चीजें जैसे टूथपेस्ट तक के लिए उन्हें पैसे देना पड़ रहा है।)

इसके अलावा कुछ कर्मचारियों को लिफ्ट का पैसा भी देना पड़ रहा है। कार्निवाल सबसीडियरी हॉलैंड अमेरिका जहाज में स्पा का काम देखने वाली वेरिका ब्रिक ने कहा, ‘हमारे पास मुफ्त इंटरनेट नहीं है। एक नजरिए से मैं ये समझने को तैयार हूं लेकिन मानवता के नजरिए से बिलकुल नहीं। ‘ 29 मार्च को ब्रिक का तबादला कोनिंग्यडैम में किया गया था, जो अमेरिका के पश्चिमी तट पर खड़ा किया गया है। जहाँ आठ जहाजों में 1100 कर्मी मौजूद हैं।

कोरोनावायरस से जहां पूरी दुनिया प्रभावित है वहीं द्वीप उद्योग पर इसका काफी बुरा असर पड़ा है। होटल जहाजों को किसी बंदरगाह को इस्तेमाल करने की इजाजत नहीं मिल रही है और उन्हें यह भी पता नहीं है कि वे कब दोबारा समुद्र में चले गए हैं। जहां यात्री अपने घर में रहते हैं। वहीं चालक दल के सदस्य समुद्र में ही फंसे हुए हैं।

बहुत से सदस्यों को तनख्वाह भी नहीं मिली है क्योंकि उनका अनुबंध समाप्त हो गया है। कुछ के पास इंटरनेट की सुविधा नहीं है, वे तनाव से ग्रस्त हैं और कुछ ने अपने मालिकों के खिलाफ मामला दर्ज किया है। सेलिब्रिटी इनफिनिटी में काम करने वाले बार्सिलोना के 31 साल के डीजे कायो साल्दान्हा ने कहा, ‘हम कैदी हैं। मुझे मदद करनी चाहिए। हमें मदद करनी चाहिए। हमें घर जाने के लिए लड़ाई लड़नी होगी। ‘

साल्दान्हा अपनी 29 साल की गर्लफ्रेंड जेसिका फुरलान के साथ एक टैक्सी में रहती हैं। फुरलान के यात्रियों के लिए जहाज पर गतिविधियों को आयोजित करने का काम करता है। 13 मार्च को अमेरिकी अधिकारियों ने वायरस के बढ़ते प्रसार को देखते हुए नो सेल आदेश जारी किया था। यात्रियों को जहाज से उतरवा दिया गया।

हालांकि जहाज पर मौजूद चालक दल के सदस्यों को वहाँ रहने के लिए कहा गया है। जिसके बाद से वे वहीं फंसे हुए हैं। अमेरिकी तटरक्षक बल ने कहा कि अमेरिका या उसके आस-पास मनोरंजन में 100 से अधिक जहाज खड़े हैं जिसमें 70,000 चालक दल मौजूद हैं। फुरलान ने कहा, ‘हम घर जाने के लिए बेताब हैं।’ किसी को इस बात का पता है कि वे तीन सप्ताह से अपने टैक्सी के अंदर बंद हैं और 24 अप्रैल से उन्हें तनख्वाह मिलने बंद हो गई है।

जो लोग काम कर रहे हैं जैसे कि Boic, क्लीनर्स, खानसमा उन्हें अब भी पैसा मिल रहा है लेकिन जिनके काम यात्रियों का मनोरंजन करना था उन्हें पैसे मिलना बंद हो गया है। बहुत से कर्मचारियों का अनुबंध खत्म हो गया है। जिस कारण उन्हें पैसा नहीं मिल रहा है। होटल ऐसे लोगों को उन्हें जहाज में रहने को कमरे में दे रहा है लेकिन बाकी चीजें जैसे टूथपेस्ट तक के लिए उन्हें पैसे देना पड़ रहा है।)

इसके अलावा कुछ कर्मचारियों को लिफ्ट का पैसा भी देना पड़ रहा है। कार्निवाल सबसीडियरी हॉलैंड अमेरिका जहाज में स्पा का काम देखने वाली वेरिका ब्रिक ने कहा, ‘हमारे पास मुफ्त इंटरनेट नहीं है। एक नजरिए से मैं ये समझने को तैयार हूं लेकिन मानवता के नजरिए से बिलकुल नहीं। ‘ 29 मार्च को ब्रिक का तबादला कोनिंग्यडैम में किया गया था, जो अमेरिका के पश्चिमी तट पर बनाया गया है। जहाँ आठ जहाजों में 1100 कर्मी मौजूद हैं।





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: