ख़बर सुनता है

कोरोना पूरे देश में काफी तेजी से पांव पसार रहा है। देखने-ही-देखने वाले देश में कोरोना शक्तियोंओं की संख्या 55 हजार के आकांड़े को पार कर गई है और 1,886 लोगों की मौत हो चुकी है। देश के तीन राज्यों बिहार और झारखंड और पश्चिम बंगाल को लेकर पहले भी विशेषज्ञों ने चेतावनी दी है जिसमें कहा गया है कि इन राज्यों की स्थिति आने वाले समय में महाराष्ट्र और गुजरात जैसी हो सकती है।

बिहार की बात करें तो यहां कोरोना टाइपों की संख्या 500 से अधिक हो गई है और अभी तक पांच लोगों के मरने की पुष्टि हो चुकी है। इसी तरह बिहार से एक डराने वाली रिपोर्ट सामने आई है। बिहार में 81 प्रति ऐसे लोगों में संक्रमण की पुष्टि हुई है जिसमें कोई लक्षण ही नहीं था।

बिहार स्वास्थ्य विभाग के सचिव संजीव कुमार हंस ने गुरुवार को, सात मई को एक ट्वीट किया है जिसमें उन्होंने एक चार्ट भी शेयर किया है। चार्ट में साफ तौर पर बताया गया है कि बिहार में कोरोनाटेन्स की संख्या 549 हो गई है जिसमें से 445 लोगों में कोई लक्षण नहीं दिखा है, जबकि 59 लोगों में लक्षण देखा गया, जबकि 43 लोगों का टेस्ट रिजल्ट अभी नहीं आया है।

यह स्थिति बहुत ही गंभीर है, क्योंकि कोरोना महामारी में जब किसी में लक्षण दिखता है तो उसका टेस्ट होता है और उसे क्वारंटीन किया जाता है, लेकिन संक्रमण ना दिखने की स्थिति में समस्या गंभीर हो सकती है, क्योंकि अनजाने में संक्रमण कई लोगों में फैल सकता है होगा और इसकी भनक तक किसी को नहीं लगेगी।

यह महज एक संयोग ही कहा जाएगा कि हाईरिस्क कॉन्टेक्ट वाले मरीजों की जांच हुई तो वे पॉजिटिव निकले, जबकि ये कोई लक्षण नहीं थे। 445 लोगों में कोई लक्षण ही नहीं दिखा रहा है लेकिन टेस्ट रिजल्ट पॉजिटिव है। स्थिति बिहार सरकार के लिए बड़ी चेतावनी है। बिहार में कोरोना क्रियाओं में महिला और पुरुषों का औसत क्रमशः 36 और 64 प्रति है।

45 प्रति लोगों को अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है और 54 प्रति लोगों का इलाज चल रहा है। एक प्रति लोगों की मृत्यु हुई है। बिहार में कोरोना क्रियाओं में 0-20 वर्ष के लोगों की संख्या सबसे अधिक 163 है, जबकि 60 वर्ष और इससे अधिक आयु के रोगियों की संख्या 26 है। राज्य में निहितों की औसत आयु 30 है।

कोरोना पूरे देश में काफी तेजी से पांव पसार रहा है। देखने-ही-देखने वाले देश में कोरोना शक्तियोंओं की संख्या 55 हजार के आकांड़े को पार कर गई है और 1,886 लोगों की मौत हो चुकी है। देश के तीन राज्यों बिहार और झारखंड और पश्चिम बंगाल को लेकर पहले भी विशेषज्ञों ने चेतावनी दी है जिसमें कहा गया है कि इन राज्यों की स्थिति आने वाले समय में महाराष्ट्र और गुजरात जैसी हो सकती है।

बिहार की बात करें तो यहां कोरोना टाइपों की संख्या 500 से अधिक हो गई है और अभी तक पांच लोगों के मरने की पुष्टि हो चुकी है। इसी तरह बिहार से एक डराने वाली रिपोर्ट सामने आई है। बिहार में 81 प्रति ऐसे लोगों में संक्रमण की पुष्टि हुई है जिसमें कोई लक्षण ही नहीं था।


आगे पढ़ें

बिहार के 80 परिच्छेदों में कोरोना का लक्षण नहीं





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: