• पूर्व पाकिस्तानी कप्तान इंजमाम उल हक ने कहा- किसी खिलाड़ी को चोट नहीं पहुंची, लेकिन सभी डर गए थे
  • 2002 में कराची की शेराटोन होटल के पास फिदायीन हमला हुआ था, जिसमें 14 लोगों की जान गई थी

दैनिक भास्कर

08 मई, 2020, 10:41 PM IST

पूर्व पाकिस्तानी कप्तान इंजमाम उल हक ने कहा कि 2002 में न्यूजीलैंड और पाकिस्तान टीम की होटल के पास हुए बम धमाके ने सबको डरा दिया था। अपने यूट्यूब चैनल पर इंगमम ने कहा कि धमाके के जब होटल में मौजूद न्यूजीलैंड के खिलाड़ी रोने लगे थे। उन्होंने कहा कि इस घटना में किसी भी खिलाड़ी को कोई चोट नहीं पहुंची, लेकिन सभी डर गए थे।

इंगमम ने कहा, ‘ाम मेरा कमरा उस हादसे वाली जगह के बिल्कुल पास था, जहां बम धमाका हुआ था। शुक्रगुजार हूं कि मैं उस वक्त कमरे में ही था। इस समय खिड़की का कांच टूटकर दूसरी तरफ की दीवार पर चला गया था। ”

न्यूजीलैंड टीम सीरीज रद्द कर वतन लौट गई थी
2002 में कराची की शेराटोन होटल के पास फिदायीन हमला हुआ था, जिसमें 14 लोगों की जान गई थी। यह धमाकेदार से भरी हुई एक कार में हुआ था। इस घटना के बाद पाकिस्तान-चीन सीरीज को रद्द कर दिया गया था। साथ ही कीवी टीम तुरंत ही अपने देश लौट गई थी।

‘ज्यादातर ब्रेक के लिए जाने वाले थे ‘
इंगमम ने कहा, ‘समय जिस समय यह घटना हुई, तब हम लोग मैदान पर जाने के लिए निकलने के साथ ही थे। ज्यादातर खिलाड़ी स्न के लिए जाने वाले थे। हमने कुछ सुना, लेकिन समझ नहीं पाया की हुई क्या। मैंने गार्ड से पूछा, तो उसने बताया कि यहां पास में बम धमाका हुआ है। मैंने सभी से बेमेंट में जाने के लिए कहा। तब मैंने देखा कि न्यूजीलैंड के खिलाड़ी स्वीमिंग पूल में नहा रहे थे। वे सभी रो रहे थे। उन खिलाड़ियों ने कभी इस तरह का अनुभव नहीं किया था। ”





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: