मोहम्ममद शमी ने कहा कि विराट कोहली खिलाड़ी को देखने की कोशिश कर रहे हैं (फाइल फोटो)

मोहम्ममद शमी (मोहम्मद शमी) ने रोहित शर्मा (रोहित शर्मा) के साथ इंस्टाग्राम लाइव में खुलासा किया था कि दो साल पहले उनके मन में तीन बार आद्यमहदयया करने का विचार आया था।

नई दिलवाली भारतीय टीम के शतार गेंदबाज मोहम्मदमद शमी (मोहम्मद शमी) लॉकडाउन के दौरान अपने परिवार के साथ समय बिता रहे हैं और इस दौरान वें सोशल मीडिया पर लाइव आ रहे हैं। कुछ दिन पहले रोहित शर्मा (रोहित शर्मा) के साथ इंस्टाग्राम लाइव में शमी ने एक चौंकाने वाला खुलासा किया था। उन्हें उन्होंने बताया कि कुछ समय पहले निजी जीवन में चल रही उथल पुथल से वो इतना अधिक परेशान हो गए थे कि उनके दिमाग में तीन बार आकृतमहेदय करने का विचार तक आ गया था।

उन्होंने कहा कि 2015 वर्लड कप में शुरू किए गए निशान के बाद उन्हें मैदान में वापसी करने में लगभग 18 महीने का समय लग गया था। वे 18 महीने उनके लिए काफी तनावपूर्ण थे। शमी ने कहा कि उन्होंने फिर से क्रिकेट खेलना शुरू किया और फिर कुछ निजी समसयाओं से गुजरना पड़ा। उससे वो ज्यादा परेशान हो गए थे कि जीवन ख्रेडम करने के बारे में सोच लिया था। दो साल पहले जब शमी की जिंदगी में तूफान आया था तो इस गेंदबाज का करियर ख्रेडम होते हुए दिख रहे थे। शमी काफी निराश हो गए थे। लेकिन दो साल बाद आज वो भारत के सबसे सफल गेंदबाज हैं। इन दो वर्षों में उन्होंने खुद में काफी बदलाव किए।

2015 के बाद थाना
शमी ने कहा कि उन्होंने अपनी जिंदगी में खुद में बहुत बदलाव किए हैं, जैसा कि उन्होंने किया है। 2015 के बाद उन्होंने उन्हें ठान लिया था कि अब पीछे नहीं हटेंगे और उसके बाद उन्होंने अपने खाने पीने का तरीका तक बदल लिया। शोर्ट्स तक से बातचीत में शमी ने बताया कि आकृतमहेडया के बारे में सोचने के समय वे बहुत अधिक परेशान हो गए थे कि उन्हें कुछ समझ नहीं आ रहा था। लेकिन उनकी किस्तमत भली थी कि परिवार उनके साथ था। उनकी परिस्थिति इस कदर हो गई थी, उन्हें देख कर उनका परिवार डरने लगा था कि कहीं गलत कदम न उठा लें, १६: में उस मुश्किल समय में वो कभी भी सो जाते थे, कभी भी उठ जाते थे। परिवार वाले इस कारण से भी डरे हुए थे कि एक बार उन्हें उसने गुस्से में कह दिया था कि ऐसी जिंदगी से खेल तो वे मर जाएं सही। सकलोट के बारे में शमी ने कहा कि पहले भी टीम इंडिया के पास अच्छेे गेंदबाज थे, लेकिन एक साथ। इतने नहीं थे। हर गेंदबाज के पास इनस्विंग, सीम जैसी खूबी होती है, लेकिन ऐसे कम ही गेंदबाज है तो नियमित तौर पर 140 से ऊपर फेंके और झूले, सीम करवाएं.अभी टीम के पास जो चार पांच गेंदबाज हैं, वो अच्छे हैं। जुआ खेलने वाले कपतान विराट कोहली (विराट कोहली) के बारे में शमी ने कहा कि विराट कभी भी परिणाम नहीं देखते हैं, बस सामने वाले की कोशिश देखते हैं। वे कहते हैं कि परिणाम बाद में देखा जाएगा।

शास्त्री का खुलासा, औडी हासिल करने के लिए इस पाक दिग्गज़ ने हर हथकंडा अपनाया

सहवाग से भी मंदानी आगंतुक, सिर्फ 330 मिनट में ठोकते हैं 333 रन!

News18 हिंदी सबसे पहले हिंदी समाचार हमारे लिए पढ़ना यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर । फोल्ट्स। देखिए क्रिकेट से संलग्न लेटेस्ट समाचार।

प्रथम प्रकाशित: 7 मई, 2020, 10:38 AM IST


इस दिवाली बंपर अधिसूचना
फेस्टिव सीजन 75% की एक्स्ट्रा छूट। केवल 289 में एक साल के लिए सब्सक्राइब करें करें मनी कंट्रोल प्रो।कोड कोड: DIWALI ऑफ़र: 10 नवंबर, 2019 तक

->





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: