मॉस्को : कोरोना का कहर दुनिया से ख्रेडम होने का नाम नहीं ले रहा है। रूस ने गुरुवार को महज 24 घंटे में 11,231 नए कोरोनावायरस मामलों की सूचना दी। देश ने अपनी राजधानी मॉस्को में नए प्रतिबंध लगाए हैं। मास्स्को शहर इस महामारी के कारण सबसे अधिक प्रभावित हुआ है।

रूस में 11,231 नए संक्रमण के मामलों के साथ कोरोनावायरस मामलों की कुल संख्या 177,160 तक पहुंच गई है और रूसी इस वायरस से लड़ने में कड़ा संघर्ष कर रहा है।

मॉस्को शहर 85,000 से अधिक मामलों और 860 से अधिक मौतों के साथ वायरस के एंडेंटर के रूप में प्रकट है। यहां तक ​​कि मेयर सर्गेई सोबयानिन ने भी कहा है कि स्टेम-ऑन-होम सर्विस को जल्द ही बंद नहीं किया जाएगा। हालांकि उन्होंने यह भी कहा कि उद्योग और निर्माण में लगे श्रमिकों को धीरे-धीरे काम शुरू करने की अनुमति दी जाएगी।

अब तक 48 लाख टेस्टर किए गए गए

रूसी स्वास्थ्य अधिकारियों ने कहा कि अब वे 4.8 मिलियन परीक्षण किए गए हैं। हालांकि, देश में कोरोनोवायरस की मृत्यु दर अन्य यूरोपीय देशों की तुलना कम है। अब तक यहां वायरस से 1,625 लोगों की मौत हो चुकी है, जबकि अमेरिका, इटली और ब्रिटेन जैसे अन्य देशों में मौतों की संख्‍या भयवाह तक नहीं है।

इस बीच, प्रधानमंत्री मिखाइल मिशुस्तीन में वायरस का पता चलने के बाद अब यहां की संस्कृति मंत्री ओल्गा हिशिमोवा कोरोना पॉजिटिव आने वाली एक और शीर्ष अधिकारी बन गई हैं।

ये भी पढ़ें- अमेरिका से लेकर इजराइल तक कोरोना से मौत पर ऐसी होती है अंतिम संस्कार

राधाती ने संक्रमण की नई लहर के लिए किया आगाह

संकट के बीच रूसी राष्ट्रपति पुतिन ने राज्यपालों को धीरे-धीरे लॉकडाउन को खत्म करने की योजना के साथ आने के लिए कहा है। साथ ही उन्होंने कहा कि इस बारे में भी आगाह किया है कि यदि चीजें नियंत्रण से बाहर हुईं तो संक्रमण की एक नई लहर आ सकती है।

बता दें कि देश में 11 मई तक लॉकडाउन है। रूसी राष्ट्रपति ने कहा, हमें धीरे-धीरे आगे बढ़ना चाहिए, हमे सबसे छोटी गलती की कीमत भी हमारे लोगों की सुरक्षा, जीवन और स्वास्थ्य की है।





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: