• कोरोना के बीच जर्मनी की बुंदेसलिगा के सभी फुटबॉल क्लब ने 5 अप्रैल से प्रशिक्षण शुरू कर दिया था
  • दक्षिण कोरिया की के-लीग शुक्रवार से शुरू हो रही है, यह एशिया का सबसे बड़ा फुटबॉल टूर्नामेंट है

दैनिक भास्कर

07 मई, 2020, 09:35 AM IST

कोरोनावायरस (कोविड -19) जैसी महामारी के बीच फुटबॉल फैन्स के लिए एक अच्छी खबर सामने आई है। जर्मनी में बुंदेसलिगा फुटबॉल 15 मई से शुरू हो सकता है। मैच खाली स्टेडियम में कराए जाएंगे। जर्मन सरकार ने सख्त नियमों के साथ 13 मार्च से रुकी हुई इस लीग को शुरू करने की अनुमति दी है। हांलाकि, आखिरी फैसला अभी भी बाकी है, जो 36 पेशेवर क्लब के साथ बैठक के बाद लिया जाएगा। यदि ऐसा होता है तो बुंदेसलिगा टॉप -5 यूरोपियन फुटबॉल लीग की पहली लीग होगी, जिसका मैच शुरू हो जाएगा।

साथ ही कुछ महीने के बाद दक्षिण कोरिया का फुटबॉल सीजन भी इसी शुक्रवार से शुरू होने जा रहा है। यह मैच भी बगैर दर्शकों के ही होगा। साथ ही कोरोना संक्रमण से बचने के लिए नई दिशा- निर्देश जारी किए गए हैं। इसके तहत गोल करने के बाद खिलाड़ी जश्न नहीं मनाएगा, हाथ नहीं मिलाएंगे और मैच के बीच में आपस में बात भी नहीं करेंगे।

जर्मनी में 13 मार्च से लीग नहीं हुई
महामारी के बीच ही जर्मनी के सभी फुटबॉल क्लब ने 5 अप्रैल से प्रशिक्षण शुरू कर दिया था। जर्मनी में 13 मार्च से लीक के मुकाबले नहीं हो रहे हैं। क्लब की टीमें छोटे-छोटे समूह में प्रशिक्षण कर रही हैं। दरअसल, बुंदेसलिगा का एक खिलाड़ी कोरोना पॉजिटिव पाया गया था। यूरोपियन सॉक्स में इंग्लिश प्रीमियर लीग (ईपीएल), इटैलियन सीरी ए, स्पेनिश ला लिगा, जर्मन बुंदेसलिगा, फ्रेंच लीग -1, ग्रेडियंस लीग और यूरोपा लीग के 541 मैच इन हैं।

27 जून को होगा फाइनल
लीग के शुरू होने के लिए सख्त दिशा-निर्देश जारी किए गए हैं। इसके तहत सभी टीम, कोच और स्टाफ को दो सप्ताह तक लॉकडाउन में रहना होगा, जबकि जो खिलाड़ी पॉजिटिव पाए गए थे, उन्हें क्वारंटाइन में रखा जाएगा। लीग के सेमीफाइनल से 16 और 17 जून को खेले जाएंगे, जबकि फाइनल 27 जून को निर्धारित किया गया है।

के-लीग में गोल के बाद खिलाड़ी जश्न नहीं मनाएगा
कोरोना संक्रमण से बचने के लिए दक्षिण कोरिया की के-लीग को लेकर सख्त दिशा- निर्देश जारी किए गए हैं। इसके तहत गोल करने के बाद खिलाड़ी जश्न नहीं मनाएगा, हाथ नहीं मिलाएंगे और मैच के बीच में आपस में बात भी नहीं करेंगे। मैच के बाद सभी खिलाड़ियों और टीम के स्टाफ का बुखार जांचा जाएगा। यदि कोई खिलाड़ी या टीम स्टाफ में फीवर हुआ था, तो उसके साथी खिलाड़ी, कोच और स्टाफ के अलावा विपक्षी टीम को भी दो सप्ताह का ब्रेक देना होगा।





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You missed

%d bloggers like this: