न्यूज डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली
अपडेटेड शुक्र, 08 मई 2020 04:29 PM IST

स्वास्थ्य मंत्रालय की प्रेस कांफ्रेंस
– फोटो: एएनआई

ख़बर सुनता है

स्वास्थ्य मंत्रालय व गृह मंत्रालय ने संयुक्त प्रेस कांफ्रेंस में आज कोरोनावायरस को लेकर नए बदलाव दिए हैं। गृह मंत्रालय ने कहा कि सरकार की कोशिश है कि लॉकडाउन के दौरान नागरिकों को अधिक से अधिक राहत दी जाए। मंत्रालय ने कहा कि अब विदेश से भारतीय नागरिकों को लाने का काम शुरू हो गया है। वहीं, स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि हर तीन में से एक मरीज ठीक हो रहा है और ये आंकड़ा लगातार बढ़ रहा है।

गृह मंत्रालय ने कहा

  • दूसरों राज्यों में फंसे लोगों के लिए बसें, ट्रेन चलाई गए हैं।
  • रेलवे ने 222 स्पेशल ट्रेन चलाई हैं।
  • अब विदेशों में फंसे नागरिकों को वापस लाने का लक्ष्य है।
  • विमानों और जहाजों द्वारा इन्हे वापस लाने की प्रक्रिया 7 मई से शुरू हो गई है।
  • विदेशों में फंसे लोग दूतावास में अपना पंजीकरण कराएंगे।
  • बोर्डिंग से पहले यात्रियों की स्क्रीनिंग होगी, बस बिना लक्षण वाले ही लोगों को यात्रा की अनुमति होगी।
  • उन्हें शपथपत्र देना होगा कि भारत पहुंचकर अपने खर्च पर क्वारंटीन में रहेगा।
  • 14 दिन के क्वारंटीन के बाद फिर से विभाजित 19 टेस्ट होंगे।
  • विदेश मंत्रालय आने वाले यात्रियों की सूची राज्य सरकारों से साझा करेगा।
  • जो लोग विदेश जाना चाहते हैं, उनके लिए भी सुविधा शुरू की गई है।
  • नौसेना का जहाज जलावेश मालद्वीव पहुंच गया है, 700 लोगों को लेकर आ रहा है।

स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा

  • अब तक कुल 37916 सक्रिय केस सामने आ चुके हैं।
  • 24 घंटे में 3390 नए केस आए।
  • 24 घंटे के दौरान 103 लोगों की मौत हुई।
  • 24 घंटे के दौरान 1273 रोगी ठीक हुए हैं।
  • अब तक 16,540 मरीज ठीक हो चुके हैं।
  • हमारा रिकवरी रेट 29.39 प्रति है। हर तीन में से एक मरीज ठीक हो रहा है। यह आंकड़ा लगातार बढ़ रहा है।
  • 42 जिलों में 28 दिन से कोई मामला नहीं
  • 29 जिलों में 21 दिन से कोई मामला नहीं।
  • 36 जिलों में 14 दिन से कोई नया मामला सामने नहीं आया।
  • 46 जिले में 7 दिन से कोई केस नहीं।
  • 216 जिलों में कोई मामला सामने नहीं आया है।
  • 21 अस्पतालों को प्लॉट थेरेपी के क्लीनिकल टेस्ट की मंजूरी दी गई है।
  • एम्स निदेशक के इस बयान पर कि जून-जुलाई में कोरोना के मामले चरम पर जा सकते हैं, स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा है कि अगर हम प्रक्रिया, दिशा-निर्देशों व नियमों का पालन नहीं करते हैं तो मामला बढ़ने की संभावना रहती है।
  • हिंसा की सच्चाई के अलावा हमें हर तरह के सहयोग की जरूरत है।
  • महाराष्ट्र, गुजरात, दिल्ली में मामले बढ़ रहे हैं।
  • रेड, ऑरेंज व ग्रीन जोन इस आधार पर तय होता है कि वहां कितना डबलिंग रेट है, कितने मरीज हैं, कितने सही हो रहे हैं।
  • दो दिन पहले डबलिंग रेट 12 दिन था लेकिन अब मामले बढ़ने से इसमें कुछ गिरावट आई है।
  • चुनौती बहुत बड़ी है, हम सभी के सहयोग की जरूरत है।

स्वास्थ्य मंत्रालय व गृह मंत्रालय ने संयुक्त प्रेस कांफ्रेंस में आज कोरोनावायरस को लेकर नए बदलाव दिए हैं। गृह मंत्रालय ने कहा कि सरकार की कोशिश है कि लॉकडाउन के दौरान नागरिकों को अधिक से अधिक राहत दी जाए। मंत्रालय ने कहा कि अब विदेश से भारतीय नागरिकों को लाने का काम शुरू हो गया है। वहीं, स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि हर तीन में से एक मरीज ठीक हो रहा है और ये आंकड़ा लगातार बढ़ रहा है।

गृह मंत्रालय ने कहा

  • दूसरों राज्यों में फंसे लोगों के लिए बसें, ट्रेन चलाई गए हैं।
  • रेलवे ने 222 स्पेशल ट्रेन चलाई हैं।
  • अब विदेशों में फंसे नागरिकों को वापस लाने का लक्ष्य है।
  • विमानों और जहाजों द्वारा इन्हे वापस लाने की प्रक्रिया 7 मई से शुरू हो गई है।
  • विदेशों में फंसे लोग दूतावास में अपना पंजीकरण कराएंगे।
  • बोर्डिंग से पहले यात्रियों की स्क्रीनिंग होगी, बस बिना लक्षण वाले ही लोगों को यात्रा की अनुमति होगी।
  • उन्हें शपथपत्र देना होगा कि भारत पहुंचकर अपने खर्च पर क्वारंटीन में रहेगा।
  • 14 दिन के क्वारंटीन के बाद फिर से विभाजित 19 टेस्ट होंगे।
  • विदेश मंत्रालय आने वाले यात्रियों की सूची राज्य सरकारों से साझा करेगा।
  • जो लोग विदेश जाना चाहते हैं, उनके लिए भी सुविधा शुरू की गई है।
  • नौसेना का जहाज जलावेश मालद्वीव पहुंच गया है, 700 लोगों को लेकर आ रहा है।

स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा

  • अब तक कुल 37916 सक्रिय केस सामने आ चुके हैं।
  • 24 घंटे में 3390 नए केस आए।
  • 24 घंटे के दौरान 103 लोगों की मौत हुई।
  • 24 घंटे के दौरान 1273 रोगी ठीक हुए हैं।
  • अब तक 16,540 मरीज ठीक हो चुके हैं।
  • हमारा रिकवरी रेट 29.39 प्रति है। हर तीन में से एक मरीज ठीक हो रहा है। यह आंकड़ा लगातार बढ़ रहा है।
  • 42 जिलों में 28 दिन से कोई मामला नहीं
  • 29 जिलों में 21 दिन से कोई मामला नहीं।
  • 36 जिलों में 14 दिन से कोई नया मामला सामने नहीं आया।
  • 46 जिले में 7 दिन से कोई केस नहीं।
  • 216 जिलों में कोई मामला सामने नहीं आया है।
  • 21 अस्पतालों को प्लॉट थेरेपी के क्लीनिकल टेस्ट की मंजूरी दी गई है।
  • एम्स निदेशक के इस बयान पर कि जून-जुलाई में कोरोना के मामले चरम पर जा सकते हैं, स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा है कि अगर हम प्रक्रिया, दिशा-निर्देशों व नियमों का पालन नहीं करते हैं तो मामला बढ़ने की संभावना रहती है।
  • हिंसा की सच्चाई के अलावा हमें हर तरह के सहयोग की जरूरत है।
  • महाराष्ट्र, गुजरात, दिल्ली में मामले बढ़ रहे हैं।
  • रेड, ऑरेंज व ग्रीन जोन इस आधार पर तय होता है कि वहां कितना डबलिंग रेट है, कितने मरीज हैं, कितने सही हो रहे हैं।
  • दो दिन पहले डबलिंग रेट 12 दिन था लेकिन अब मामले बढ़ने से इसमें कुछ गिरावट आई है।
  • चुनौती बहुत बड़ी है, हम सभी के सहयोग की जरूरत है।





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You missed

%d bloggers like this: