• बैंक ने कहा कि शुरुआत में डाल दिया गया था कि कोरोना 2-3 महीने में खत्म हो जाएगा लेकिन अब ऐसा नहीं किया जा रहा है।
  • कंपनी के चेयरमैन और होल्डिंग डेयरक्टर उदय कोटक अगले एक साल तक 1 रुपए सैलरी लेंगे।

दैनिक भास्कर

07 मई, 2020, 07:57 अपराह्न IST

नई दिल्ली। निजी क्षेत्र के कोटक महिंद्रा बैंक ने कहा है कि वह सालाना 25 लाख रुपये से अधिक आय वाले कर्मचारियों के वेतन में 10 प्रतिशत कटौती करेगा। बैंक ने यह निर्णय लिया कि कोरोना के कारण वहां लॉकडाउन की वजह से आर्थिक नुकसान के कारण लिया गया है। पिछले महीने बैंक ने अपनी लीडरशिप टीम की सैलरी मे 15 फीसदी कटौती करने की घोषणा की थी। उस समय कहा गया था कि कंपनी के चेयरमैन और सहायक डेयरक्टर उदय कोटक अगले एक साल तक 1 रुपए सैलरी लेंगे।

कोरोना संकट के कारण निर्णय लिया गया

  • बैंक ने यह फैसला किया-विभाजित -19 के चलते कारोबार में हो रहे नुकसान के कारण लिया है। अपने कर्मचारियों को भेजे गए ईमेल नोट में कोटक के मुख्य मानव संसाधन अधिकारी सुखजीत एस पसरीचा ने कहा कि शुरुआत में लगा था कि कोरोना 2-3 महीने में खत्म हो जाएगा, लेकिन अब ऐसा नहीं लग रहा है कि यह जल्द खत्म होने वाला है। इस वायरस से जीवन और आजीविका पर गंभीर बीमारी पैदा हो गई है। इसलिए, हमें अपने व्यवसायों को बचाने के लिए हमारी लागतों और परिचालनों को फिर से रिकैलिब्रेट करना होगा।
  • हमें यह सुनिश्चित करने की आवश्यकता है कि हमारे सहकर्मी सुरक्षित हों और उनकी बीमारियों की सुरक्षा के लिए पूरी कोशिश करें। बैंक ने कहा कि वित्त वर्ष 2021 के लिए मई महीने से हर उस कर्मचारी के वेतन में 10 फीसद कटौती का फैसला किया गया है, जिसका सैलरी 25 लाख रुपये सालाना से ज्यादा है।

भारत में बेरोजगारी की दर 27 प्रति तक पहुंची

कोविद -19 परिस्थिति के कारण अर्थव्यवस्था पर बहुत बुरा प्रभाव पड़ा है। इसकी वजह से कई काउंटी वेतन में कटौती कर रहे हैं। सबसे ज्यादा नुकसान असंगठित क्षेत्र को हुआ है। थिंक-टैंक CMIE के अनुसार, भारत में बेरोजगारी की दर सप्ताह में 3 मई तक 27 फीसद तक पहुंच गई।





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: