वर्ल्ड डेस्क, अमर उजाला, वाशिंगटन
अपडेटेड थू, 07 मई 2020 08:03 AM IST

जलमय खलीलजाद (फाइल फोटो)
– फोटो: एएनआई

ख़बर सुनता है

अफगानिस्तान में अमेरिका के विशेष दूत जलमय खलीलजाद भारत यात्रा पर आएंगे। इस दौरान वह काबुल और क्षेत्र में स्थायी शांति में भारत की महत्व पूर्ण भूमिका को लेकर चर्चा करेंगे। इस बात की जानकारी बुधवार को अमेरिकी विदेश मंत्रालय ने दी।
मंत्रालय ने कहा, ‘नई दिल्ली में राज्य खलीलजाद भारतीय अधिकारियों के साथ बात करेंगे ताकि अफगानिस्तान और क्षेत्र में स्थायी शांति में भारत की महत्वपूर्ण भूमिका पर चर्चा की जा सके।’ पिछले महीने खलीलजाद ने भारत के विदेश मंत्री एस जयशंकर के साथ बात की थी और युद्धग्रस्त अफगानिस्तान में स्थायी शांति के लिए क्षेत्रीय और आंतरिक प्रयासों में भारत की भागीदारी का स्वागत किया था।

विदेश मंत्रालय का कहना है कि खलीलजाद मंगलवार को रवाना हो गए हैं और वह पहले कतर की राजधानी दोहा जाएंगे। जहाँ फरवरी में दोनों पक्षों के बीच अमेरिकी-तालिबान समझौते पर हस्ताक्षर हुए थे, इसके कार्यानवयन पर जोर दे सकते हैं। अपनी यात्रा के दौरान अमेरिकी राज्य पाकिस्तान की भी यात्रा करेंगे। खलीलजाद इस्लामाबाद में पाकिस्तानी अधिकारियों के साथ बैठक करेंगे और अफगान शांति प्रक्रिया पर भी चर्चा करेंगे।

अफगानिस्तान में अमेरिका के विशेष दूत जलमय खलीलजाद भारत यात्रा पर आएंगे। इस दौरान वह काबुल और क्षेत्र में स्थायी शांति में भारत की महत्व पूर्ण भूमिका को लेकर चर्चा करेंगे। इस बात की जानकारी बुधवार को अमेरिकी विदेश मंत्रालय ने दी।

मंत्रालय ने कहा, ‘नई दिल्ली में राज्य खलीलजाद भारतीय अधिकारियों के साथ बात करेंगे ताकि अफगानिस्तान और क्षेत्र में स्थायी शांति में भारत की महत्वपूर्ण भूमिका पर चर्चा की जा सके।’ पिछले महीने खलीलजाद ने भारत के विदेश मंत्री एस जयशंकर के साथ बात की थी और युद्धग्रस्त अफगानिस्तान में स्थायी शांति के लिए क्षेत्रीय और आंतरिक प्रयासों में भारत की भागीदारी का स्वागत किया था।

विदेश मंत्रालय का कहना है कि खलीलजाद मंगलवार को रवाना हो गए हैं और वह पहले कतर की राजधानी दोहा जाएंगे। जहाँ फरवरी में दोनों पक्षों के बीच अमेरिकी-तालिबान समझौते पर हस्ताक्षर हुए थे, इसके कार्यानवयन पर जोर दे सकते हैं। अपनी यात्रा के दौरान अमेरिकी राज्य पाकिस्तान की भी यात्रा करेंगे। खलीलजाद इस्लामाबाद में पाकिस्तानी अधिकारियों के साथ बैठक करेंगे और अफगान शांति प्रक्रिया पर भी चर्चा करेंगे।





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: