न्यूज डेस्क, अमर उजाला, जे
अपडेटेड मैट, 06 मई 2020 08:19 PM IST

ख़बर सुनता है

हिजबुल मुजाहिदीन का शीर्षधरर रियाज आकू के मारे जाने के बाद अवंतिपुरा में सुरक्षाबलों की भीड़ ने पत्थरबाजी की। इतना ही नहीं अराजक तत्वों ने सुरक्षाबलों की गाड़ी को घेरकर भी पत्थराव किया। सूचना मिलने पर सेना के आला अधिकारी मौके पर पहुंच गए हैं और हालात पर नियंत्रण पाने की कोशिश की जा रही है। वहीं सुरक्षा करणों को देखते हुए दोपहर से ही इंटरनेट सेवा बंद है।

घंटों चले ऑपरेशन के बाद मारा गया आकू
पुलवामा जिले के बेगपुरा में आतंकवादियों के साथ घंटों चले मुठभेड़ में सुरक्षाबलों ने हिजबुल मुजाहिदीन के रणधर रियाज को मार गिराया। बेगपुरा में हिजबुल मुजाहिदीन केंदरर रियाज आकू के छिपे होने की सुरक्षाबलों को को मिला था। इसके बाद सुरक्षाबलों ने इलाके की घेराबंदी कर दी।

पांच साल में ही बन गया था संगठन का प्रमुख
रियाज अहमद नायकू घाटी का सबसे वांछित आतंकी था। मुठभेड़ में सबजार भट्ट की मौत के बाद से इसने कमान संभाली थी। दिसंबर 2012 में हिज्ब में शामिल हुआ और महज पांच साल में संगठन के प्रमुख बन गए। वह तकनीक में महारत रखता था। एक आतंकी के जनाजे में शामिल होने के बाद उसने सार्वजनिक रूप से पाकिस्तान को समर्थन देने की बात कही थी।

आकू के सिर पर 12 लाख का इनाम था
आकू सुरक्षा एजेंसियों के रडार पर 2016 में डाक ब्वॉय बुरहान वानी की मौत के बाद आना शुरू हुआ था। उसके सिर पर 12 लाख रुपये का इनाम था। अवंतीपुरा के दुरबग के आकू मोहल्ले का निवासी आकू घाटी के वांछनीय आतंकवादियों की ए ++ श्रेणी में आता है।

कई बार सुरक्षाबलों को धोखा देने में कामयाब रहे
उसने घाटी में सतर्कर भट की मौत के बाद हिजबुल मुजाहिद्दीन के मुखिया का पद संभाला था। नायकू को पूरी घाटी में हिजबुल कान्दरर माना जाता था। सुरक्षा एजेंसियों ने पहले उसे कई बार घेरा था, लेकिन हर बार वह किसी तरह बचकर भाग निकलने में सफल हो जाता था।

हिजबुल मुजाहिदीन का शीर्षधरर रियाज आकू के मारे जाने के बाद अवंतिपुरा में सुरक्षाबलों की भीड़ ने पत्थरबाजी की। इतना ही नहीं अराजक तत्वों ने सुरक्षाबलों की गाड़ी को घेरकर भी पत्थराव किया। सूचना मिलने पर सेना के आला अधिकारी मौके पर पहुंच गए हैं और हालात पर नियंत्रण पाने की कोशिश की जा रही है। वहीं सुरक्षा करणों को देखते हुए दोपहर से ही इंटरनेट सेवा बंद है।

घंटों चले ऑपरेशन के बाद मारा गया आकू

पुलवामा जिले के बेगपुरा में आतंकवादियों के साथ घंटों चले मुठभेड़ में सुरक्षाबलों ने हिजबुल मुजाहिदीन के रणधर रियाज को मार गिराया। बेगपुरा में हिजबुल मुजाहिदीन केंदरर रियाज आकू के छिपे होने की सुरक्षाबलों को को मिला था। इसके बाद सुरक्षाबलों ने इलाके की घेराबंदी कर दी।

पांच साल में ही बन गया था संगठन का प्रमुख

रियाज अहमद नायकू घाटी का सबसे वांछित आतंकी था। मुठभेड़ में सबजार भट्ट की मौत के बाद से इसने कमान संभाली थी। दिसंबर 2012 में हिज्ब में शामिल हुआ और महज पांच साल में संगठन के प्रमुख बन गए। वह तकनीक में महारत रखता था। एक आतंकी के जनाजे में शामिल होने के बाद उसने सार्वजनिक रूप से पाकिस्तान को समर्थन देने की बात कही थी।

आकू के सिर पर 12 लाख का इनाम था
आकू सुरक्षा एजेंसियों के रडार पर 2016 में डाक ब्वॉय बुरहान वानी की मौत के बाद आना शुरू हुआ था। उसके सिर पर 12 लाख रुपये का इनाम था। अवंतीपुरा के दुरबग के आकू मोहल्ले का निवासी आकू घाटी के वांछनीय आतंकवादियों की ए ++ श्रेणी में आता है।

कई बार सुरक्षाबलों को धोखा देने में कामयाब रहे
उसने घाटी में सतर्कर भट की मौत के बाद हिजबुल मुजाहिद्दीन के मुखिया का पद संभाला था। नायकू को पूरी घाटी में हिजबुल कान्दरर माना जाता था। सुरक्षा एजेंसियों ने पहले उसे कई बार घेरा था, लेकिन हर बार वह किसी तरह बचकर भाग निकलने में सफल हो जाता था।





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: