न्यूज डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली
अद्यतित मंगल, 05 मई 2020 12:17 PM IST

ख़बर सुनता है

‘बैयोज लॉकर रूम के चैट ग्रुप मामले के संबंध में एक स्कूली छात्र को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। इसके साथ ही ग्रुप के सभी सदस्यों की पहचान कर ली गई है। पुलिस ने कहा है कि ये सबकी जांच की जाएगी।

दिल्ली पुलिस की साइबर सेल ने दिल्ली के स्कूली लड़कों को इंस्टाग्राम चैट रूम पर बलात्कार को बढ़ावा देने पर कार्रवाई करते हुए यह गिरफ्तारी की है। पुलिस ने पकड़े गए छात्र का मोबाइल फोन बरामद कर लिया है और उसकी जांच भी की जा रही है।

पूरा मामला क्या है
गौरतलब है कि सोशल मीडिया पर रविवार शाम वायरल हुई चैट ग्रुप ॉ ब्योज लॉकर रूम ’की कारगुजारी ने अभिभावकों को स्तब्ध करके बनाए रखा है। दिल्ली एनसीआर के प्रतिष्ठित स्कूलों में पढ़ने वाले 11 वीं और 12 वीं के लड़कों ने अपने साथ पढ़ने वाली और दोस्त लड़कियों को लेकर जिस तरह की भद्दी और अश्लील टिप्पणियों इंस्टाग्राम के एक चैट रूम में की हैं वे बेहद शर्मनाक हैं।

यहाँ तक कि लड़कों ने पोल खुलने पर एक और ग्रुप बनाकर लड़कियों की अभद्र तस्वीरों को वायरल तक करने की योजना बनाई। मामले ने जब तूल पकड़ा तो दिल्ली पुलिस के साइबर सेल ने केस दर्ज किया। अब दिल्ली पुलिस ने इस मामले में कार्रवाई करते हुए एक लड़के को हिरासत में लिया है और पूछताछ कर रही है।

वहीं दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल पहले ही इस मामले में कड़ी कार्रवाई की मांग कर चुकी हैं। आयोग ने दिल्ली पुलिस और इंस्टाग्राम को नाबालिग लड़कियों के बारे में अभद्र पोस्ट को लेकर नोटिस जारी किया है।

दरअसल, स्कूली छात्रों द्वारा इंस्टाग्राम पर चैट ग्रुप ॉ ब्यॉज लॉकर रूम ’बनाया गया था। ग्रुप चलाने वाले लड़के 16 से 18 साल के हैं। यह सब साथ पढ़ने वाली और अपनी मित्र किशोरियों के अंतरंग फोटो के बिना उनकी जानकारी के शेयर करते थे। यहाँ तक कि इन लड़कियों पर बेहद आपत्तिजनक टिप्पणियाँ भी करते थे।

जब इस ग्रुप में एक नया लड़का जुड़ा तो उसने अपनी दोस्त को यह बताया। सोशल मीडिया पर आशना शर्मा नामक यूजर ने इस ग्रुप को उजागर किया। उन्होंने लिखा, मुझे अपनी जिंदगी में इतना गुस्सा कभी नहीं आया। इन लड़कों को अपनी मांगों पर कोई पछतावा तक नहीं है।

‘बैयोज लॉकर रूम के चैट ग्रुप मामले के संबंध में एक स्कूली छात्र को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। इसके साथ ही ग्रुप के सभी सदस्यों की पहचान कर ली गई है। पुलिस ने कहा है कि ये सबकी जांच की जाएगी।

दिल्ली पुलिस की साइबर सेल ने दिल्ली के स्कूली लड़कों को इंस्टाग्राम चैट रूम पर बलात्कार को बढ़ावा देने पर कार्रवाई करते हुए यह गिरफ्तारी की है। पुलिस ने पकड़े गए छात्र का मोबाइल फोन बरामद कर लिया है और उसकी जांच भी की जा रही है।

पूरा मामला क्या है

गौरतलब है कि सोशल मीडिया पर रविवार शाम वायरल हुई चैट ग्रुप ॉ ब्योज लॉकर रूम ’की कारगुजारी ने अभिभावकों को स्तब्ध करके बनाए रखा है। दिल्ली एनसीआर के प्रतिष्ठित स्कूलों में पढ़ने वाले 11 वीं और 12 वीं के लड़कों ने अपने साथ पढ़ने वाली और दोस्त लड़कियों को लेकर जिस तरह की भद्दी और अश्लील टिप्पणियों इंस्टाग्राम के एक चैट रूम में की हैं वे बेहद शर्मनाक हैं।

यहाँ तक कि लड़कों ने पोल खुलने पर एक और ग्रुप बनाकर लड़कियों की अभद्र तस्वीरों को वायरल तक करने की योजना बनाई। मामले ने जब तूल पकड़ा तो दिल्ली पुलिस के साइबर सेल ने केस दर्ज किया। अब दिल्ली पुलिस ने इस मामले में कार्रवाई करते हुए एक लड़के को हिरासत में लिया है और पूछताछ कर रही है।

वहीं दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल पहले ही इस मामले में कड़ी कार्रवाई की मांग कर चुकी हैं। आयोग ने दिल्ली पुलिस और इंस्टाग्राम को नाबालिग लड़कियों के बारे में अभद्र पोस्ट को लेकर नोटिस जारी किया है।

दरअसल, स्कूली छात्रों द्वारा इंस्टाग्राम पर चैट ग्रुप ॉ ब्यॉज लॉकर रूम ’बनाया गया था। ग्रुप चलाने वाले लड़के 16 से 18 साल के हैं। यह सब साथ पढ़ने वाली और अपनी मित्र किशोरियों के अंतरंग फोटो के बिना उनकी जानकारी के शेयर करते थे। यहाँ तक कि इन लड़कियों पर बेहद आपत्तिजनक टिप्पणियाँ भी करते थे।

जब इस ग्रुप में एक नया लड़का जुड़ा तो उसने अपनी दोस्त को यह बताया। सोशल मीडिया पर आशना शर्मा नामक यूजर ने इस ग्रुप को उजागर किया। उन्होंने लिखा, मुझे अपनी जिंदगी में इतना गुस्सा कभी नहीं आया। इन लड़कों को अपनी मांगों पर कोई पछतावा तक नहीं है।





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *