• देशों की ओर से मिली राशि कोरोना की जांच, इलाज और इसके लिए तैयार करने पर खर्च होगा
  • सोमवार को एक वर्ग प्ले पैकेजिंग कॉन्फेंस में देशों ने अपनी ओर से आर्थिक मदद देने का ऐलान किया

दैनिक भास्कर

05 मई, 2020, 01:05 अपराह्न IST

वॉशिंगटन। दुनिया के 23 देशों ने कोरोना से निपटने के लिए कुल मिलाकर 8 बिलियन डॉलर (लगभग 60 हजार 434 करोड़ रुपये) देने की घोषणा की। इस राशि को कोरोना की जांच, इलाज और इसके लिए तैयार करने पर खर्च होगा। सोमवार को एक वर्ग प्ले पैकेजिंग कॉन्फ्रेंस में देशों ने अपनी ओर से आर्थिक मदद देने का ऐलान किया। यूरोपियन यूनियन, कनाडा, फ्रांस, जर्मनी, इटली, जापान, सऊदी अरब, अमेरिका, स्पेन और यूके ने एक साथ मिलकर इस कॉन्फ्रेंस की बुकिंग की थी। इसमें अमेरिका की ओर से कोई प्रतिनिधित्व शामिल नहीं हुआ।

दान देने का यह आयोजन तीन घंटे से ज्यादा समय तक चला। इसमें शामिल देशों ने अपनी क्षमता के हिसाब से राशि देने की घोषणा की है। यूरोपियन यूनियन और बैंकों ने सबसे अधिक राशि दी। दोनों देशों ने अपनी-अपनी ओर से 1 बिलियन डॉलर (लगभग 7 हजार 554 करोड़) रुपये दिए। इस बीच, बिल एंड मेलिंडा गेट्स फाउंडेशन के सह-संस्थापक मेलिंडा गेट्स ने 755 करोड़ रु। देने का वादा किया गया है।

‘दुनिया ने एक सामान्य अच्छे काम के लिए अतिरिक्त एकता दिखाई’

यूरोपियन कमीशन के प्रेसिडेंट उर्सुला वोन डेर लेयेन ने कहा, के दुनिया आज दुनिया ने एक सामान्य अच्छे काम के लिए अतिरिक्त एकता दिखाई है। कोरोना के खिलाफ सरकारें और वैश्विक स्वास्थ्य संगठन एक साथ आए हैं। इस तरह के प्रदर्शन के साथ हम सभी के लिए वैक्सीन बनाने, उत्पादन करने और इसे लोगों को उपलब्ध करवाने की राह पर है। हालाँकि, यह महज शुरुआत है। हमें अपनी कोशिश जारी रखनी होगी और बहुत मदद के लिए तैयार रहना होगा। प्ले ट्रेडिंग मैराथन जारी रहेगा।

मदद करने वाले प्रमुख देश:

  • 38- मिलियन डॉलर (लगभग 2,877 करोड़ रु।)
  • नीदरलैंड- 209.5 मिलियन डॉलर (लगभग 1,582 करोड़ रु।)
  • ऑस्ट्रेलिया- 352 मिलियन डॉलर (लगभग 1,701 करोड़ रु।)
  • इटली- 152.7 मिलियन डॉलर (लगभग 1,153 करोड़ रु।)
  • दकोरिया- 50 मिलियन डॉलर (लगभग 377 करोड़ रु।)
  • कुवैत- 40 मिलियन डॉलर (लगभग 302 करोड़ रु।)
  • द.अफ्रीका- 1.3 मिलियन डॉलर (लगभग 9 करोड़ रु।)





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: