न्यूज डेस्क, अमर उजाला, जे
अपडेटेड मैट, 06 मई 2020 03:20 AM IST

ख़बर सुनता है

दक्षिणी कश्मीर के पुलवामा जिले के शार गांव में आतंकवादियों और भारतीय सेना के बीच मुठभेड़ की खबर है। सेना को जैसे ही आतंकियों के गांव में छिपे होने की खबर मिली तो उन पर शिकंजा कसा गया। सेना के एक अधिकारी ने बताया कि इस पर छिपे हुए आतंकवादियों ने हमला बोल दिया, जिसका सेना ने करारा जवाब दिया। कयास है कि दो से तीन आतंकी छिपे हुए हैं। अभियान जारी है

इससे पहले जम्मू-कश्मीर के बड़गाम में आतंकवादियों ने सुरक्षाबलों को निशाना बनाया। आतंकवादियों ने ग्रेनेड हमला किया। इस दौरान सीआरपीएफ की 181 वीं बटालियन का एक जवान और चार स्थानीय नागरिक घायल हो गए। घायलों को उपचार के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है। हालांकि जवान के घायल होने की अभी तक अधिकारिक पुष्टि नहीं हुई है। वहीं इलाके की घेराबंदी कर तलाशी अभियान शुरू कर दिया गया है।

इससे पहले कल यानी सोमवार को उत्तरी कश्मीर के कुपवाड़ा जिले में आतंकी हमले में सीआरपीएफ के तीन जवान शहीद हो सकते हैं। हमले में चार जवान घायल भी हुए हैं। कार सवार दहशतगर्दों ने सीआरपीएफ पार्टी को निशाना बनाते हुए अंधाधुंध फायरिंग की। सीआरपीएफ जवानों की जवाबी कार्रवाई से दहशतगर्द मौके से भाग निकले। इस हमले की ज़िम्मेदारी द रिजिंटेंस क्यू (टीआरएफ) ने ली है।
घटना के बाद सीआरपीएफ, सेना और पुलिस के आला अधिकारी मौके पर पहुंच गए। सूत्रों के अनुसार इस इलाके से सटे क्रालगुंड का एक आतंकी गनी भाई क्रालगुंड और आसपास के इलाकों में आतंकी गतिविधियों को अंजाम देता है। कुछ साल सक्रिय रहने के बाद उन्होंने आत्मसमर्पण कर दिया था। पिछले डेढ़ साल से वह फिर सक्रिय हुई है।

आशंका है कि हमले में वह शामिल हो जाएगा। क्रॉस फायरिंग में एक किशोर के भी मारे जाने की सूचना है। सीआरपीएफ के प्रवक्ता पंकज सिंह ने बताया कि घटनास्थल पर एक शव बरामद किया गया है लेकिन हथियार नहीं मिले हैं। शव आतंकी का है या किसी और का, यह पता लगाया जा रहा है।

दक्षिणी कश्मीर के पुलवामा जिले के शार गांव में आतंकवादियों और भारतीय सेना के बीच मुठभेड़ की खबर है। सेना को जैसे ही आतंकियों के गांव में छिपे होने की खबर मिली तो उन पर शिकंजा कसा गया। सेना के एक अधिकारी ने बताया कि इस पर छिपे हुए आतंकवादियों ने हमला बोल दिया, जिसका सेना ने करारा जवाब दिया। कयास है कि दो से तीन आतंकी छिपे हुए हैं। अभियान जारी है

इससे पहले जम्मू-कश्मीर के बड़गाम में आतंकवादियों ने सुरक्षाबलों को निशाना बनाया। आतंकवादियों ने ग्रेनेड हमला किया। इस दौरान सीआरपीएफ की 181 वीं बटालियन का एक जवान और चार स्थानीय नागरिक घायल हो गए। घायलों को उपचार के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है। हालांकि जवान के घायल होने की अभी तक अधिकारिक पुष्टि नहीं हुई है। वहीं इलाके की घेराबंदी कर तलाशी अभियान शुरू कर दिया गया है।

इससे पहले कल यानी सोमवार को उत्तरी कश्मीर के कुपवाड़ा जिले में आतंकी हमले में सीआरपीएफ के तीन जवान शहीद हो सकते हैं। हमले में चार जवान घायल भी हुए हैं। कार सवार दहशतगर्दों ने सीआरपीएफ पार्टी को निशाना बनाते हुए अंधाधुंध फायरिंग की। सीआरपीएफ जवानों की जवाबी कार्रवाई से दहशतगर्द मौके से भाग निकले। इस हमले की ज़िम्मेदारी द रिजिंटेंस क्यू (टीआरएफ) ने ली है।

घटना के बाद सीआरपीएफ, सेना और पुलिस के आला अधिकारी मौके पर पहुंच गए। सूत्रों के अनुसार इस इलाके से सटे क्रालगुंड का एक आतंकी गनी भाई क्रालगुंड और आसपास के इलाकों में आतंकी गतिविधियों को अंजाम देता है। कुछ साल सक्रिय रहने के बाद उन्होंने आत्मसमर्पण कर दिया था। पिछले डेढ़ साल से वह फिर सक्रिय हुई है।

आशंका है कि हमले में वह शामिल हो जाएगा। क्रॉस फायरिंग में एक किशोर के भी मारे जाने की सूचना है। सीआरपीएफ के प्रवक्ता पंकज सिंह ने बताया कि घटनास्थल पर एक शव बरामद किया गया है लेकिन हथियार नहीं मिले हैं। शव आतंकी का है या किसी और का, यह पता लगाया जा रहा है।





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: