• एक महीने में केवल 4000 हजार कारों का पंजीकरण हुआ, इसमें से 70 प्रति कारों कंपनियों ने काम किया
  • कोरोना संक्रमण के कारण ब्रिटेन में मार्च से बंद पड़ा है कारों का उत्पादन, फिर से शुरू होने को लेकर स्थिति स्पष्ट नहीं है

दैनिक भास्कर

05 मई, 2020, 02:54 PM IST

नई दिल्ली। कोरोना संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए लगाए गए लॉकडाउन के कारण ब्रिटेन (यूएटेड हांग्जो) में कारों की बिक्री बुरी तरह प्रभावित हुई है। सोसायटी फॉर मोटर मैन्युफैक्चरिंग एंड ट्रेडर्स (बीएमएमटी) के मुताबिक, अप्रैल 2020 में ब्रिटेन में केवल 4 हजार कारों का पंजीकरण हुआ है। पिछले साल की समान अवधि के मुकाबले इस साल कारों की बिक्री में 97 प्रति की गिरावट आई है।

1946 से सबसे बड़े मासिक गिरावट के बाद
बीएमएमटी के चीफ एक्जीक्यूटिव माइक हॉज ने बीबीसी से बातचीत में बताया कि अप्रैल महीने में जिन 4000 कारों का पंजीकरण हुआ है, उसमें से 70 फीसदी कारों की खरीदारी कंपनियों ने अपनी फ्लीट में शामिल करने के लिए की है। कोरोना संक्रमण को फैलाने से रोकने के लिए ब्रिटेन में सभी कार शोरूम बंद पड़े हैं। हॉज ने कहा कि जब आप सभी कार शोरूम को पूरे अप्रैल बंद करने के लिए कहेंगे तो कारों की ना के बराबर बिक्री पर आश्चर्य नहीं होना चाहिए।

अप्रैल 2019 में बायक 1,61,064 कारें थीं
बीएमएमटी के एक प्रवक्ता के मुताबिक इन चार हजार कारों की बिक्री प्रमुख कार्यों से जुड़े वर्कर्स के लिए की गई है, जिनकी उन्हें काफी आवश्यकता है। प्रवक्ता ने बताया कि यह कारों डीलरशिप के बजाए थोक विक्रेता या सीधे मैन्युफैक्चरर्स से की गई है। आंकड़ों के मुताबिक, पिछले साल अप्रैल में 1,61,064 नई कारों का पंजीकरण हुआ था, जो इस साल घटकर 4 हजार रह गए हैं।

2020 में 1.68 मिलियन कारों की बिक्री की उम्मीद है
उद्योग से जुड़े संगठनों का कहना है कि 2020 में 1.68 मिलियन नई कारों का पंजीकरण होने की उम्मीद है। जबकि 2019 में 2.3 मिलियन कारों का पंजीकरण हुआ था। हॉज का कहना है कि ब्रिटेन के कुछ कार निर्माताओं का स्टाफ इसी सप्ताह काम पर लौट आएगा। हालांकि, उत्पादन के पूरी क्षमता पर लौटने में लंबा समय लग सकता है।

सुरक्षित ऑपरेशन शुरू करने का तरीका खोजकर्ता निर्माता
हॉज ने कहा कि अधिकांश निर्माता सुरक्षित वातावरण में ऑपरेशन शुरू करने का रास्ता खोज रहे हैं। लेकिन यह काफी कम रहेगा और उत्पादन बढ़ने की गति काफी धीमी रहेगी। उन्होंने कहा कि कोरोनावायरस के कारण मोटर उद्योग के लिए काफी कठिन समय चल रहा है। कारों की बिक्री के लिए मोटर उद्योग संघर्ष कर रहा है। इसके अलावा नए उत्सर्जन लक्ष्यों के कारण डीजल वाहनों की मांग भी गिर गई है।

मार्च से बंद पड़ा है कारों का उत्पादन
कोरोनावायरस संक्रमण के कारण ब्रिटेन में कारों का उत्पादन बुरी तरह से प्रभावित हुआ है। ब्रिटेन की अधिकांश कार निर्माता फैक्ट्रियों में मार्च से ही उत्पादन बंद पड़ा है। उत्पादन के दोबारा शुरू होने को लेकर अभी तक कोई स्थिति स्पष्ट नहीं है।





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: