• सेंटर फॉर सपोर्टिंग इंडियन इकोनॉमी ने 3 मई को डेवलपर रिपोर्ट जारी की
  • रिपोर्ट के अनुसार अगर हालात नहीं सुधरे तो बेरोजगारी और बढ़ सकती है
  • अप्रैल महीने में बेरोजगारी में 14.8 प्रतिशत की वृद्धि हुई

दैनिक भास्कर

05 मई, 2020, शाम 04:17 बजे IST

नई दिल्ली। कोरोना के कारण देश में लागू लॉकडाउन के कारण देश में बेरोजगारी दर लगातार बढ़ती जा रही है। सेंटर फॉर सपोर्टिंग इंडियन इकोनॉमी (सीएमआईई) ने देश में बेरोजगारी पर डेवलपर रिपोर्ट जारी की है। इस डेवलपर रिपोर्ट के अनुसार 3 मई 2020 को समाप्त सप्ताह तक यह देश में बेरोजगारी दर 27.1 प्रतिशत पर पहुंच गई है।

अप्रैल में 14.8 प्रतिशत बेरोजगारी बढ़ी
इससे पहले जारी डेवलपर रिपोर्ट के मुताबिक अप्रैल 2020 में देश में बेरोजगारी दर 23.5 फीसदी से ऊपर पहुंच गई थी। अकेले अप्रैल महीने में बेरोजगारी दर में 14.8 प्रतिशत का इजाफा हुआ था। मार्च महीने के मुकाबले अप्रैल में बेरोजगारी दर में तेज वृद्धि हुई थी।

असंगठित क्षेत्रों में अधिक बेरोजगारी बढ़ी
सीएमआईई के चीफ एक्जीक्यूटिव महेश व्यास ने कहा कि लॉकडाउन के लंबे चलने पर बेरोजगार लोगों की संख्या और बढ़ सकती है। शुरुआत में, असंगठित क्षेत्रों में काम करने वाले लोगों की नौकरी गई हैं। लेकिन अब धीरे-धीरे, संगठित और सुरक्षित नौकरी वालों की जॉब पर भी संकट के बादल छाने लगे हैं। स्टार्टअप ने ले-ऑफ की घोषणा की है और उद्योग संघों ने नौकरी के नुकसान की चेतावनी दी है। व्यास ने कहा कि नौकरी की तलाश कर रहे लोगों की संख्या भी बढ़ी है। 3 मई को यह 36.2 प्रतिशत हो गया जो पहले 35.4 था।

12 करोड़ से अधिक लोग बेरोजगार हुए
सीएमआईई के अध्ययन में अनुमान लगाया गया है कि अप्रैल में दैनिक वेतन भोगी श्रमिक और छोटे व्यवसायी सबसे ज्यादा बेरोजगार हैं। डेवलपर के अनुसार 12 करोड़ (122 मिलियन) से ज्यादा लोगों को नौकरी से हाथ धोना पड़ा है। इनमें फेरीवाले, सड़क के किनारे सामान बेचने वाले, निर्माण उद्योग में काम करने वाले कर्मचारी और कई लोग हैं जो रिक्शा को ठेला चलकर पासारा करते थे। आपको बता दें कि भारत में असंगठित क्षेत्र में ऋण पर नजर रखने के लिए कई सरकारी मैट्रिक्स अपनाए जाते हैं। जैसे सीएमआईई डेवलपर लेबर मार्केट पर नजर रखने के लिए एक योजना के तौर पर इस्तेमाल किया जाता है।





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: