न्यूज डेस्क, अमर उजाला, हैदराबाद

अद्यतित मंगल, 05 मई 2020 12:01 अपराह्न IST

शराब की दुकानों के बाहर लगी लंबी लाइन (फाइल फोटो)
– फोटो: एएनआई

ख़बर सुनता है

दिल्ली के बाद अब आंध्र प्रदेश सरकार ने शराब की कीमतों में 50 प्रतिशत इजाफा कर दिया है। जिसके कारण शराब की कीमतों में कुल समग्र वृद्धि दर 75 प्रतिशत हो गई है। संशोधित कारों आज दोपहर से लागू हो जाएंगी। मुख्यमंत्री कार्यालय ने कहा कि शराब की खपत को हतोत्साहित करने के लिए मूल्य वृद्धि की गई है। इससे पहले दिल्ली सरकार ने शराब पर 70 प्रतिशत कोरोना फीस लगाई है।

लॉकडाउन 3.0 के पहले दिन शराब की दुकानों पर उमड़ी भीड़ को सीमित करने और सरकारी राजस्व बढ़ाने के मकसद से दिल्ली सरकार ने विशेष कोरोना शुल्क लगा दिया है। शुल्क की दर एमआरपी पर 70 प्रति होगी। मंगलवार से टैक्स की नई वस्तुओं पर लागू हो गए हैं।

इसलिए शराब पीते हुए लोग
दरअसल लगभग डेढ़ महीने से लॉकडाउन के चलते बंद शराब की दुकानें अब खुली हैं तो लोग किसी भी तरह से शराब खरीद लेना चाहते हैं। वहीं हरियाणा की सीमा सील होने के कारण वहां नहीं हो सका, जैसा कि अक्सर दिल्ली वाले करते हैं क्योंकि वहां दिल्ली की तुलना में शराब है।

पहले दिन केवल पांच राज्यों में बाइस 554 करोड़ रुपये की शराब थी
सोमवार को पांच राज्यों में 554 करोड़ रुपये की शराब की बिक्री हुई। लॉकडाउन 3.0 के पहले दिन कुल 736 जिलों में 600 जिलों में दुकानें खुलीं। लेकिन, सबसे ज्यादा भीड़ शराब की दुकानों पर उमरी। कुछ शहरों में तो दो मीटर तक लंबी कतारें दिखीं। उत्तरप्रदेश में 225 करोड़, महाराष्ट्र में 200 करोड़, राजस्थान में 59 करोड़, कर्नाटक में 45 करोड़ और छत्तीसगढ़ में 25 करोड़ रुपये की शराब बिकी।

दिल्ली के बाद अब आंध्र प्रदेश सरकार ने शराब की कीमतों में 50 प्रतिशत इजाफा कर दिया है। जिसके कारण शराब की कीमतों में कुल समग्र वृद्धि दर 75 प्रतिशत हो गई है। संशोधित कारों आज दोपहर से लागू हो जाएंगी। मुख्यमंत्री कार्यालय ने कहा कि शराब की खपत को हतोत्साहित करने के लिए मूल्य वृद्धि की गई है। इससे पहले दिल्ली सरकार ने शराब पर 70 प्रतिशत कोरोना फीस लगाई है।

लॉकडाउन 3.0 के पहले दिन शराब की दुकानों पर उमड़ी भीड़ को सीमित करने और सरकारी राजस्व बढ़ाने के मकसद से दिल्ली सरकार ने विशेष कोरोना शुल्क लगा दिया है। शुल्क की दर एमआरपी पर 70 प्रति होगी। मंगलवार से टैक्स की नई वस्तुओं पर लागू हो गए हैं।

इसलिए शराब पीते हुए लोग
दरअसल लगभग डेढ़ महीने से लॉकडाउन के चलते बंद शराब की दुकानें अब खुली हैं तो लोग किसी भी तरह से शराब खरीद लेना चाहते हैं। वहीं हरियाणा की सीमा सील होने के कारण वहां नहीं हो सका, जैसा कि अक्सर दिल्ली वाले करते हैं क्योंकि वहां दिल्ली की तुलना में शराब है।

पहले दिन केवल पांच राज्यों में बाइस 554 करोड़ रुपये की शराब थी
सोमवार को पांच राज्यों में 554 करोड़ रुपये की शराब की बिक्री हुई। लॉकडाउन 3.0 के पहले दिन कुल 736 जिलों में 600 जिलों में दुकानें खुलीं। लेकिन, सबसे ज्यादा भीड़ शराब की दुकानों पर उमरी। कुछ शहरों में तो दो मीटर तक लंबी कतारें दिखीं। उत्तरप्रदेश में 225 करोड़, महाराष्ट्र में 200 करोड़, राजस्थान में 59 करोड़, कर्नाटक में 45 करोड़ और छत्तीसगढ़ में 25 करोड़ रुपये की शराब बिकी।





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: