• एक से सात लाख रुपए की रेंज में चालू कर दिया
  • कई ब्रोकरों का भी इस मामले में समावेश है

दैनिक भास्कर

04 मई, 2020, 09:57 अपराह्न IST

मुंबई। पूंजी बाजार और भारतीय प्रतिभूति एवं विनिमय बोर्ड (सेबी) ने रिचा इंडस्ट्रीज के शेयरों में मेनिपुलेशन को लेकर 25 कंपनियों पर 79 लाख रुपए का फाइन लगाया है। यह जानकारी सेबी ने सोमवार देर रात प्रेस रिलीज में दी है। इसमें एक लाख से 7 लाख रुपये तक के दायरे में पेलाल्टी लगाया गया है।

डीएस चोलामंडलम, आलमोंड्ज, बीएमवीडी फाइनेंशियल भी

सेबी ने जिन कंपनियों पर फाइन लगाया है उसमें सर्कुलर ट्रेड्स, सेल्फ ट्रेड्स, क्रास डील्स, मास्टरमाइंड ट्रैक्सिम, मार्क ट्रिप, डीबीएस चोलामंडलम, आलमोंड्ज इंटरटेनमेंट, एमएसपीडी सिक्योरिटीज, सनविजन इंफोटेक, डायनोमिक ग्लोबल, ज्वेलफैमेट्स, एचपीवीडी फाइनेंसिंग फाइनेंशियल फाइनेंसिंग कंपनी के प्रमुख हैं। है। सेबी ने कहा कि चोलामंडलम ने सब ब्रोकर के नियमों का उल्लंघन किया है।

2008 से शेयरों में मेनिपुलेशन का काम हुआ था

सेबी ने जारी प्रेस विज्ञप्ति में बताया कि यह सभी कंपनियों रिचा इंडस्ट्रीज लिमिटेड के शेयरों में मेनिपुलेशन का काम कर रही थी, जो बाजार के नियमों का सीधा-सीधा उल्लंघन था। सेबी ने इस मामले में रिचा इंडस्ट्रीज के शेयरों के कारोबार में अनियमितता की गतिविधियों पर जांच की थी और उसमें ये सभी को दोषी पाया गया था। सेबी ने जांच के दौरान पाया कि रिचा इंडस्ट्रीज का हिस्सा 1 दिसंबर 2008 को 61 रुपए पर खुला था और 16 नवंबर 2009 को 161 रुपए तक पहुंच गया था। जबकि 16 मार्च 2009 को यह शेयर 29 रुपए पर पहुंच गया था और 31 दिंसबर 2009 को 110 रुपए पर बंद हुआ था।

सेबी ने अपनी जांच में पाया कि इन 25 संस्थानों में से दो समूह ऐसे थे जो एक दूसरे से जुड़े थे और रिचा इंडस्ट्रीज के शेयरों में डील कर रहे थे। यह कंपनियां शेयरों के ओरणशिप में बिना किसी हकीकत के बदलाव के बावजूद मेनिपुलेशन का काम कर रही थीं।





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *