संवाददाता डेस्क, अमर उजाला, भुवनेश्वर
अद्यतन सोम, 04 मई 2020 08:32 अपराह्न IST

ख़बर सुनता है

श्री जगन्नाथ मंदिर प्रबंधन समिति (एसजेटीएमसी) ने 23 जून को होने वाली भगवान जगन्नाथ की वार्षिक रथ यात्रा के लिए रथ के निर्माण को आगे बढ़ाने का फैसला लिया।

पुरी गजपति महाराज दिव्य सिंह देब की बैठक में एक एसजेटीएमसी बैठक में यह फैसला लिया गया।

दरअसल देश में कोरोनावायरस के प्रकोप को रोकने के लिए लगाए गए लॉकडाउन के कारण रथ को बनाने का काम शुरू नहीं हो पाया है।

देब ने बैठक के बाद पत्रकारों से कहा, “प्रबंध समिति की बैठक ने आज सर्वसम्मति से रथ निर्माण का फैसला किया क्योंकि यह धार्मिक कार्य नहीं है, बल्कि निर्माण से जुड़ी गतिविधि है।”

हालांकि, उन्होंने यह साफ कर दिया कि इस मामले पर अंतिम फैसला राज्य सरकार की तरफ से ही लिया जाएगा।

देब ने कहा कि बैठक में यह फैसला लिया गया कि रथों का निर्माण कोई धार्मिक कार्य नहीं है और यह निर्माण कार्य से जुड़ा हुआ है, जिसे गृह मंत्रालय की ओर से तीनों क्षेत्रों में- लाल, ऑरेंज और ग्रीन जोन में किए जाने की अनुमति दी गई है। गया है।

श्री जगन्नाथ मंदिर प्रबंधन समिति (एसजेटीएमसी) ने 23 जून को होने वाली भगवान जगन्नाथ की वार्षिक रथ यात्रा के लिए रथ के निर्माण को आगे बढ़ाने का फैसला लिया।

पुरी गजपति महाराज दिव्य सिंह देब की बैठक में एक एसजेटीएमसी बैठक में यह फैसला लिया गया।

दरअसल देश में कोरोनावायरस के प्रकोप को रोकने के लिए लगाए गए लॉकडाउन के कारण रथ को बनाने का काम शुरू नहीं हो पाया है।

देब ने बैठक के बाद पत्रकारों से कहा, “प्रबंध समिति की बैठक ने आज सर्वसम्मति से रथ निर्माण का फैसला किया क्योंकि यह धार्मिक कार्य नहीं है, बल्कि निर्माण से जुड़ी गतिविधि है।”

हालांकि, उन्होंने यह साफ कर दिया कि इस मामले पर अंतिम फैसला राज्य सरकार की तरफ से ही लिया जाएगा।

देब ने कहा कि बैठक में यह फैसला लिया गया कि रथों का निर्माण कोई धार्मिक कार्य नहीं है और यह निर्माण कार्य से जुड़ा हुआ है, जिसे गृह मंत्रालय की ओर से तीनों क्षेत्रों में- लाल, ऑरेंज और ग्रीन जोन में किए जाने की अनुमति दी गई है। गया है।





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *