• म्यूचुअल फंड संस्था एंफी ने जारी किए गए आंकड़े
  • फ्रैंकलिन टेंपल्टन के 6 स्कीम्स बंद होने का असर

दैनिक भास्कर

04 मई, 2020, 01:19 बजे IST

मुंबई। फ्रैंकलिन टेंपलटन म्यूचुअल फंड की डेट फंड स्कीम्स के बंद होने के बाद एक सप्ताह में क्रेडिट रिस्क फंड्स के असेट अंडर मैनेजमेंट (एयूएम) में 26 प्रतिशत की गिरावट आई है। यह जानकारी एसोसिएशन ऑफ म्यूचुएल फंड्स इन इंडिया (एंफी) ने दी है।

30 अप्रैल तक 48,576 करोड़ रुपये एयूएम था

एंफी के आंकड़ों के मुताबिक पूरे म्यूचुअल फंड उद्योग के 20 क्रेडिट रिस्क फंड का कुल एयूएम 30 अप्रैल तक 48,576,000 रुपये है। यह 12,569 करोड़ रुपये गिरकर 36,008 करोड़ रुपये पर आ गया है। इसमें 26 प्रतिशत की गिरावट आई है। इस गिरावट का मुख्य कारण हालांकि असेट्स की कीमतों में गिरावट रही है, लेकिन इस दौरान इन फंड में रिवर्मिशन भी हुआ है।

आरबीआई ने दी थी 50,000 करोड़ रुपए की सुविधा

म्यूचुअल फंड को परिस्थिति से उबरने के लिए आरबीआई ने 27 अप्रैल को एक विशेष विंडो के तहत 50,000 करोड़ रुपये की मदद दी थी। म्यूचुअल फंड के लिए विशेष लिक्विडिटी फैसिलिटी से बैंक ने 6,000 करोड़ रुपये इस स्कीम के तहत उधार लिए। एंफी की रिलीज के मुताबिक 24 अप्रैल तक क्रेडिट रिस्क फंड्स सेगमेंट ने 2,949 करोड़ रुपए जुटाए थे, जबकि 27 अप्रैल को 4,294 करोड़ रुपए जुटाए गए थे। 27 अप्रैल को अचानक इसमें वृद्धि का कारण आरबीआई द्वारा जारी लिक्विडिटी था।

पिछले महीने फ्रैंकलिन की 6 डेट स्कीम्स बंद हुई थीं

बता दें कि हाल ही में डेट फंड की क्रेडिट रिस्क स्कीम्सर्स के लिए बुरा साबित हुआ है। एक ओर जहां एक साल में उसने घाटा दिया, वहीं फ्रैंकलिन टेंपल्टन की 6 स्कीम्स बंद होने से निवेशकों के पैसे फंस गए। फ्रैंकलिन की ये 6 स्कीम्स का एयूएम 28,000 करोड़ रुपए है। इस घटना के बाद कई क्रेडिट रिस्क फंड एनएवी में एक दिन में भारी गिरावट भी दर्ज की गई जो 50 प्रतिशत से अधिक रही।





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *