• 2017 में उत्तर कोरिया ने पड़ोसी मुल्क दक्षिण कोरिया पर फायरिंग की थी
  • किम जोंग उन 20 दिन बाद शुक्रवार को सार्वजनिक तौर पर नजर आए थे

दैनिक भास्कर

03 मई, 2020, 12:00 अपराह्न IST

सियोल। उत्तर और दक्षिण कोरिया की सीमा पर रविवार सुबह फायरिंग हुई। इससे दोनों देशों के बीच तनाव बढ़ गया है। दक्षिण कोरिया की न्यूज एजेंसी योनहाप के मुताबिक, उत्तर कोरिया ने गोलीबारी की शुरुआत की। दक्षिण कोरिया ने भी कुछ जवाबी फायर किए।
तीन साल पहले भी नॉर्थ कोरिया ने इसी तरह गोलीबारी की थी। तब भी दोनों देशों के बीच कई दिनों तक तनाव रहा था।

नुकसान की खबर नहीं
मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, चेतावनी में दोनों ही तरफ किसी तरह का नुकसान नहीं हुआ। उत्तर कोरिया ने दक्षिण कोरिया के चियोरवॉन शहर को लक्ष्य बनाने की कोशिश की। यह शहर सीमा से काफी नजदीक है। इसके चंद मिनट बाद ही दक्षिण कोरिया ने जवाबी कार्रवाई की।

दोनों देशों के बीच बातचीत
घटना के बाद दक्षिण कोरिया के जुऑंट चीफ ऑफ स्टाफ ने बयान जारी किया। कहा, “हम इंटर कोरियन कम्युनिकेशन के माध्यम से बातचीत कर रहे हैं। इससे तनाव कम करने में मदद मिलेगी। हमारी सेना किसी भी हमले का जवाब देने के लिए तैयार है।]

उसम कनेक्शन
नॉर्थ कोरिया का तानाशाह किम जोंग उन लगभग 20 दिन गायब रहे। शुक्रवार को उसको देखे जाने की खबर आई। इसके लगभग एक दिन बाद ही यह दोनों देशों के बीच फायरिंग हुई। अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रम्प ने किम के सामने आने पर खुशी जाहिर की। वास्तव में, इसके पहले कयास लगाए जा रहे थे कि तानाशाह गंभीर रूप से बीमार है। कुछ रिपोर्ट्स में तो उसकी मौत की खबर भी दी गई थी।

असमय क्षेत्र
उत्तर और दक्षिण कोरिया की 115 किलोमीटर लंबी सीमा पर 1953 में एक असैन्य क्षेत्र बनाया गया था। यहां एक कॉरिडोर है। तनाव के हालात में दोनों देशों के आर्मी अफसर यहां बातचीत करते हैं। 2017 में उत्तर कोरिया के एक सैनिक ने जीप से कूदकर दक्षिण कोरियाई सीमा में जाने की कोशिश की थी। दौड़ के दौरान सहयोगियों ने इस सैनिक पर गोलियां चलाईं। बाद में दक्षिण कोरियाई सैनिकों ने उसे मदद की। अस्पताल में भर्ती कराया गया। वह स्वस्थ है और अब दक्षिण कोरिया में ही है।





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *