ऐसे संशोधित अफरीदी का करियर

शाहिद अफरीदी (शाहिद अफरीदी) ने 22 साल तक इंटरनेशनल क्रिकेट खेला और अपने करियर में कई बड़े मुकाम हासिल किए।

नई दिल्ली। साहिबजादा मोहम्मद शाहिद खान अफरीदी … ये वो नाम है जिसने अपनी हिटिंग से, अपने छक्के जड़ने की कला से करोड़ों फैंस को अपना मुरीद बनाया। शाहिद अफरीदी (शाहिद अफरीदी) वो खिलाड़ी हैं जिनके पास कोई खास तकनीक नहीं थी लेकिन जब वो भी क्रीज पर आते थे तो गेंदबाजों का ब्लड प्रेशर बढ़ जाता था। शाहिद अफरीदी को अगर पाकिस्तान क्रिकेट का सुपरस्टार कहा जाए तो कोई गलत नहीं होगा। अफरीदी बतौर गेंदबाज टीम में आए थे लेकिन पूरी दुनिया में लोग उनकी बल्लेबाजी के दीवाने हैं। सही मायनों में अगर कोई वनडे क्रिकेट का सिक्सर किंग है तो शाहिद अफरीदी ही हैं। इस खिलाड़ी ने अपने करियर में 351 वनडे सिक्स लगाए हैं। यही नहीं अफरीदी ने अपने आंतरिक करियर में 500 से ज्यादा भी विकेट झटके। ऐसे में कोई दो राय नहीं है कि ये खिलाड़ी पाकिस्तान के सबसे टैलेंटेड क्रिकेटर्स में से एक है। अब सवाल ये उठता है कि आखिर शाहिद अफरीदी इतने बड़े खिलाड़ी कैसे बने? हर खिलाड़ी के जीवन में कोई ना कोई ऐसी घटना जरूर घटती है जो उसका पूरा करियर बदल देती है। ऐसी ही घटना शाहिद अफरीदी के जीवन में भी घटी और वह उनके सुपरस्टार बनने का टर्निंग प्वाइंट बनी रही।

ऐसे संशोधित शाहिद अफरीदी का करियर

पाकिस्तान के खैबर एजेंसी में जन्मे शाहिद अफरीदी (शाहिद अफरीदी) एक पठान हैं। उनके घर पर काफी अनुशासन था। अफरीदी जब छोटे बच्चे थे तो उन्होंने अब्दुल कादिर की गेंदबाजी के बड़े चर्चे सुने थे। एक बार उन्होंने उनकी गेंदबाजी भी देखी और वहाँ से बसने से उन्होंने कहा कि वह पाकिस्तान के दूसरे अब्दुल कादिर बनेंगे। शाहिद अफरीदी का क्रिकेटर बनने का सपना गलियों से ही शुरू हुआ। वो गली क्रिकेट के अब्दुल कादिर थे और अपनी फिरकी से शिष्यों को आउट करते थे। लेकिन यहाँ समस्या यह थी कि उनके पिता साहबजादा फजल उर रहमान अफरीदी को क्रिकेट से सख्त नफरत थी। अफरीदी को उन्होंने कई बार क्रिकेट खेलने की वजह से पीटा।

मार खाने के बावजूद अफरीदी ने क्रिकेट नहीं छोड़ाअफरीदी (शाहिद अफरीदी) पिता की मार खाते थे लेकिन उनके अंदर क्रिकेट को लेकर जुनून था। हालांकि फिर वह घटना हुई जब अफरीदी की जिंदगी बदल गई। शाहिद अफरीदी को पाकिस्तान की अंडर 16 टीम में चुना गया और उन्होंने मैच में 5 विकेट झटके। अफरीदी रोज की तरह घर आए और अगले दिन का इंतजार करने लगे। अफरीदी को उस पत्र का इंतजार था जो उनके पिता रोज पढ़ते थे। सुबह हुआ पत्र आया और जब पिता की नजर खेल के पन्ने पर गई तो उनकी आंखों में आंसू आ गए। साहबजादा फजल उर रहमान अफरीदी को अपने बेटे शाहिद की तस्वीर उस पत्र में दिखी, जिसमें उनकी तारीफों के पुल बांधे गए थे। अफरीदी के पिता ने उन्हें गले लगा लिया और फिर उन्होंने अपने बेटे को कभी क्रिकेट खेलने से नहीं टोका।

1996 में धमाकेदार डेब्यू

वर्ष 1994-95 में शाहिद अफरीदी (शाहिद अफरीदी) को अंडर 19 चैंपियनशिप में कराची व्हाइट्स टीम के लिए चुना गया। अफरीदी ने अपनी फिरकी से जैसे कहर ही बरपा दिया। अफरीदी ने सिर्फ 5 मैच में 42 विकेट चटकाकर पाकिस्तान की टीम में अपनी जगह पक्की कर ली। 2 अक्टूबर 1996 को बतौर लेग स्पिनर उन्होंने केन्या के खिलाफ डेब्यू किया। अफरीदी को कोई विकेट नहीं मिला लेकिन उन्होंने 10 ओवर में महज 32 रन बनाए। बल्लेबाजी का मौका नहीं मिला और पाकिस्तान ने मैच 4 विकेट से जीता। अब अगली प्रतियोगिता श्री से थी और उसके बाद कुछ ऐसा हुआ जिसके बारे में दुनिया ने कभी कल्पना भी नहीं की होगी।

37 गेंदों में शतक

पाकिस्तान की टीम श्रीलंका के खिलाफ पहले बल्लेबाजी करने उतरी और सलीम इलाही और कप्तान सईद ने ओपनिंग करने उतरे। इलाही को धर्मों ने 23 रन पर आउट कर दिया। पाकिस्तान ने गौरौर पिंच हिटर शाहिद अफरीदी (शाहिद अफरीदी) को मैदान में उतार दिया। अफरीदी ने अपनी दूसरी ही गेंद पर छह जड़ ये दिखा दिया कि आज मैदान में तूफान आने वाला है। शाहिद अफरीदी ने श्रीलंका के खिलाफ महज 37 गेंदों में शतक ठोक दिया। ये वो वक्त दुनिया का सबसे तेज शतक था। अपनी शतकीय पारी में अफरीदी ने 11 चौके और 6 चौके जड़े। दुनिया ने पहले कभी ऐसी हिटिंग नहीं देखी थी। अफरीदी की बैटिंग के दौरान मौजूदा भारतीय कोच रवि शास्त्री कमेंट्री कर रहे थे और उन्होंने अफरीदी के छक्कों को देखकर कहा था कि ये छक्के नहीं, मिस हैं। शाहिद अफरीदी ने अपनी इस पारी से दिखाया कि इंटर्न क्रिकेट को सबसे बड़ा हिटर मिल चुका है। बाद में इसी हिटिंग की वजह से अफरीदी को बास-बास अफरीदी का उपनाम मिला।

रज्जाक ने कहा-पंड्या के पास पैसा आ गया है इसलिए वह अब मेहनत नहीं करते हैं

ओलिंपिक खेलना चाहता है यह भारतीय क्रिकेटर है, किस खेल को चुनेंगे

News18 हिंदी सबसे पहले हिंदी समाचार हमारे लिए पढ़ना यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर । फोल्ट्स। देखिए क्रिकेट से संलग्न लेटेस्ट समाचार।

प्रथम प्रकाशित: 3 मई, 2020, शाम 5:55 बजे


इस दिवाली बंपर अधिसूचना
फेस्टिव सीजन 75% की एक्स्ट्रा छूट। केवल 289 में एक साल के लिए सब्सक्राइब करें करें मनी कंट्रोल प्रो।कोड कोड: DIWALI ऑफ़र: 10 नवंबर, 2019 तक

->





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: