इस्लामाबाद: पाकिस्तान (पाकिस्तान) में प्रधानमंत्री कुर्सी भले ही किसी के पास हो, लेकिन वही होता है, जो सेना चाहती है। सीधे शब्दों में कहें, तो सेना का एकछत्र राज चलता है और जो सेना के साथ चलना नहीं चाहता, उसके लिए सरकार में बने रहना मुश्किल हो जाता है। यही इमरान खान (इमरान खान) के साथ भी हो रहा है। कोरोना महामारी से सामना में नाकाम साबित हो रहे इमरान के सेना के साथ भी संबंध खराब हो गए हैं। दोनों में अंतर की खबरें लगातार सामने आ रही हैं। इन खबरों को गलत साबित करने के लिए अब इमरान खान ने अपने मंत्रियों को काम पर लगा दिया है। रेल मंत्री शेख रशीद (शेख रशीद) ने इस काम की शुरुआत की है। उन्होंने सेना और सरकार के बीच मतभेदों को अफवाह करार देते हुए बतौर पीएम इमरान खान की जमकर तारीफ की है।

ये भी पढ़ें: रियाज नाइकू के खात्मे के साथ खत्म हुआ आतंक का व बुरहान वानी गैंग ’, जानें कौन-कौन था शामिल

शेख रशीद का कहना है कि ‘अगर किसी को लगता है कि सेना इमरान खान का समर्थन नहीं कर रही है, तो वे सरकार बनाने की कोशिश कर सकते हैं। वे जो चाहे कर सकते हैं, लेकिन जब उनकी कोशिश खत्म हो जाएगी, तो इमरान खान ही नजर आएंगे ‘। रशीद ने कथित मतभेदों को गलतफहमी करार देते हुए कहा, किसी मैंने कभी किसी सरकार और सेना के बीच इतना बढ़िया गठबंधन नहीं देखा। एक शानदार कॉम्बिनेशन, बस टीवी पर एक चेहरे की ज़रूरत थी और वह हमें मिल गया है। आपको (सेना) भी एक ऐसे व्यक्ति की आवश्यकता थी, सबकुछ अच्छे से संभालना, आप बाजवा मिल गए हैं ‘।

इमरान खान की तारीफ करते हुए रेल मंत्री ने कहा कि किसी के दिमाग में भी वह फार्मूला नहीं आया, जिस पर प्रधानमंत्री अमल कर रहे हैं। सेना और सरकार के बीच अच्छे संबंध हैं और दोनों को एक-दूसरे का समर्थन प्राप्त है। गौरतलब है कि कोरोना महामारी से सामना के लिए लॉकडाउन जैसे कड़े उपायों को लेकर पीएम इमरान और सेना प्रमुख जनरल क़मर जावेद बाजवा के बीच मतभेदों की बात सामने आई थी। इससे पहले भी कई मौकों पर दोनों में मतभेद उजागर हो चुके हैं।

रशीद ने संवाददाताओं से बात करते हुए जोरदार ढंग से कहा, की मैं सभी की गलतफहमी दूर करना चाहता हूं कि पीएम इमरान और पाकिस्तान सेना के बीच कोई मतभेद नहीं है। प्रधानमंत्री जो कुछ भी कहते हैं, उससे सेना सहमत होती है और सेना इमरान खान के पीछे खड़ी है। मैं इससे बहुत प्रत्यक्ष रूप से और कुछ नहीं कह सकता ‘।

लाइव टीवी





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *