नील फर्ग्यूसन
– फोटो: सोशल मीडिया

ख़बर सुनता है

ब्रिटेन में कोरोनावायरस पर नियंत्रण पाने के लिए लॉकडाउन लगाने की सलाह देने वाले प्रमुख वैज्ञानिक नील फर्ग्यूसन ने सोशल डिस्टेंसिंग का नियम तोड़ने पर अपने पद से इस्तीफा दे दिया है। फर्ग्यूसन कोरोनावायरस मामले में सरकार के प्रमुख सलाहकार थे। इन्हीं की सलाह पर प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने ब्रिटेन में 23 मार्च से लॉकडाउन का एलान किया था।

जानकारी के मुताबिक सेंटर फॉर ग्लोबल इंफेक्शन्स डिसीज एलानिसिस के निदेशक नील फर्ग्यूसन ने लॉकडाउन के दौरान एक महिला को दो बार अपने घर में बुलाया। हालाँकि, उन्होंने अपनी गलती मान ली है। उन्होंने कहा कि सरकार सोशल डिस्टेंसिंग की अपील कर रही है और मैंने इसका उल्लू किया।

‘प्रोफेसर लॉकडाउन’ के नाम से जाने जाने वाले नील ने कहा कि वह साइंटिफिक एड्वरी ग्रुप फॉर इमरजेंसी के पद से इस्तीफा दे रहे हैं। बीबीसी के अनुसार इसी संस्था ने जनवरी में दुनिया में कोरोनावायरस के खतरे के बारे में चेतावनी दी थी। उन्होंने कहा कि सरकार का यह आदेश सभी नागरिकों की सुरक्षा के लिए है।

बता दें कि ब्रिटेन में अभी तक कोरोनावायरस से 29 हजार से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है और इस मामले में इसने इटली को भी पीछे छोड़ दिया है जहां कोरोना से मरने वालों की संख्या 28 हजार से कुछ ज्यादा है। कोरोना से मौत के मामले में ब्रिटेन केवल अमेरिका से पीछे हैं जहां इस जानलेवा महामारी की वजह से 72 हजार से ज्यादा लोगों की मौत हो गई है।

ब्रिटेन में कोरोनावायरस पर नियंत्रण पाने के लिए लॉकडाउन लगाने की सलाह देने वाले प्रमुख वैज्ञानिक नील फर्ग्यूसन ने सोशल डिस्टेंसिंग का नियम तोड़ने पर अपने पद से इस्तीफा दे दिया है। फर्ग्यूसन कोरोनावायरस मामले में सरकार के प्रमुख सलाहकार थे। इन्हीं की सलाह पर प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने ब्रिटेन में 23 मार्च से लॉकडाउन का एलान किया था।

जानकारी के मुताबिक सेंटर फॉर ग्लोबल इंफेक्शन्स डिसीज एलानिसिस के निदेशक नील फर्ग्यूसन ने लॉकडाउन के दौरान एक महिला को दो बार अपने घर में बुलाया। हालाँकि, उन्होंने अपनी गलती मान ली है। उन्होंने कहा कि सरकार सोशल डिस्टेंसिंग की अपील कर रही है और मैंने इसका उल्लू किया।

‘प्रोफेसर लॉकडाउन’ के नाम से जाने जाने वाले नील ने कहा कि वह साइंटिफिक एड्वरी ग्रुप फॉर इमरजेंसी के पद से इस्तीफा दे रहे हैं। बीबीसी के अनुसार इसी संस्था ने जनवरी में दुनिया में कोरोनावायरस के खतरे के बारे में चेतावनी दी थी। उन्होंने कहा कि सरकार का यह आदेश सभी नागरिकों की सुरक्षा के लिए है।

बता दें कि ब्रिटेन में अभी तक कोरोनावायरस से 29 हजार से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है और इस मामले में इसने इटली को भी पीछे छोड़ दिया है जहां कोरोना से मरने वालों की संख्या 28 हजार से कुछ ज्यादा है। कोरोना से मौत के मामले में ब्रिटेन केवल अमेरिका से पीछे हैं जहां इस जानलेवा महामारी की वजह से 72 हजार से ज्यादा लोगों की मौत हो गई है।





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *