• दो दिन पहले दक्षिण कोरिया में बेसबॉल लीग शुरू हुआ, अब कोरोना के बाद फुटबॉल शुरू करने वाला पहला देश बना
  • हर मैच के बाद जांच में किसी खिलाड़ी को फिट निकलता है तो साथी खिलाड़ी, कोच और विपक्षी टीम को 2 सप्ताह का ब्रैक

दैनिक भास्कर

06 मई, 2020, 07:51 PM IST

कोरोनावायरस जैसी महामारी के बीच दो महीने के बाद दक्षिण कोरिया का फुटबॉल सीजन शुक्रवार से शुरू होने जा रहा है। हालांकि यह मैच बगैर दर्शकों के ही होगा। साथ ही कोरोना संक्रमण से बचने के लिए नई दिशा- निर्देश जारी किए गए हैं। इसके तहत गोल करने के बाद खिलाड़ी जश्न नहीं मनाएगा, हाथ नहीं मिलाएंगे और मैच के बीच में आपस में बात भी नहीं करेंगे। गाइडलाइन को लेकर सवाल भी उठने लगे हैं। इंचियोन यूनाइटेड के कप्तान किम डो हाइक ने कहा कि मैच में दौरान आपस में बिना बातचीत के फुटबॉल खेलना संभव नहीं है।

मैच के बाद सभी खिलाड़ियों और टीम के स्टाफ का बुखार जांचा जाएगा। यदि कोई खिलाड़ी या टीम स्टाफ में फीवर हुआ था, तो उसके साथी खिलाड़ी, कोच और स्टाफ के अलावा विपक्षी टीम को भी दो सप्ताह का ब्रेक देना होगा।

यूरोप की सभी फ़ुटबॉल बंद
कोरोना के बाद फुटबॉल शुरू करने वाला दक्षिण कोरिया का पहला देश है। हालांकि बेलारूस, तुर्कमेनिस्तान और ताइवान जैसे देशों ने कोरोनावायरस के कारण फुटबॉल की तुलना में रोके नहीं थे। के-लेड एशिया का पहला बड़ा टूर्नामेंट होगा, जिसमें खेले जाएंगे। यूरोप की बड़ी लीग अभी तक बंद हैं और सिर्फ जर्मनी की बुंडेसलीगा ने मैच फिर से करने की योजना बनाई है। बुंदेसलीगा के एक क्लब के स्टाफ में 3 लोग कोरोना पॉजिटिव मिले थे।

के-लीग का पहला मुकाबला शुक्रवार को जियोनबक और सुवॉन ब्लूविंग्स के बीच खेला जाएगा। लीग के अधिकारियों के मुताबिक मैच का लाइव युटिबिलिटी और फेसबुक पर दिखाया जाएगा। इसके अलावा 10 विदेशी कार्सस्टर भी करेंगे।

चीन के बाद दक्षिण कोरिया में कोरोना का प्रकोप
दक्षिण कोरिया उन देशों में शामिल था, जिसमें चीन के बाहर शुरुआत में कोरोनावायरस का सबसे अधिक प्रकोप दिखा था जिसके बाद पेशेवर खेलों ने अपने सत्र रद्द कर दिए या विज्ञापन कर दिए थे और फिर बाद में दुनिया भर के देशों ने भी कदम उठाए थे। । याहू ने हालांकि अपनी मजबूत, पहचान, परीक्षण और उपचार के कार्यक्रम से इस महामारी को नियंत्रित कर लिया है और मंगलवार को खाली स्टेडियम में बेसबाल की वापसी के बाद अब फुटबाल की वापसी होगी।





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *