अजिंक्य रहाणे बोले- कोरोना के बाद बदलेंगे क्रिकेट

कोरोनावायरस के बाद लगभग सभी खेलों में कई नियम बदले जा सकते हैं, साथ ही खिलाड़ियों के जश्न मनाने के तरीकों में भी बदलाव आते तय है, अजिंक्य रहाणे (अजिंक्य रहाणे) ने अपनी राय फैंस के साथ साझा की।

नई दिल्ली। कोरोनावायरस की वजह से इस वक्त सभी खेल ठप हैं लेकिन ऐसा माना जा रहा है कि जल्द ही एक बार खेल के मैदान भरने वाले हैं। मतलब एक बार भी खेल की वापसी होनी चाहिए। इसी तरह के खेल जब भी शुरू होते हैं तो उनके नियमों में कोरोनावायरस की वजह से काफी बड़े बदलाव आते हैं। भारतीय टेस्ट उपकप्तान अजिंक्य रहाणे (अजिंक्य रहाणे) ने इसी मुद्दे पर अपनी राय रखी। रहाणे ने बुधवार को कहा कि अब जब भी मैदान में वापसी होगी तो विकेट का जश्न मनाने के लिए खिलाड़ियों को नमस्ते और ’हाई-फाइव ‘(दूर से ही हाथ उठा कर दिखाना) का इस्तेमाल करना होगा।

क्रिकेट के मैदान में बदलाव होंगे

रहाणे (अजिंक्य रहाणे) ने (एल्सा (इंग्लिश लैंग्वेज स्पीच अस्सिटेंस) एप्स के ऑनलाइन संवाददाता सम्मेलन में कहा कि कोविड -19 के कारण आम जीवन शैली के साथ क्रिकेट का मैदान भी बदलाव से अछेता नहीं रहेगा। रहाणे ने कहा, ‘मैदान में खिलाड़ियों को और ज्यादा धैर्य रखना होगा। सामाजिक दूरी का ध्यान रखना होगा। गिरने के बाद हमें जश्न मनाने के लिए शायद नमस्ते का सहारा लेना पड़ता है। हम किसी भी चीज को हल्के में नहीं ले सकते। ‘ उन्होंने कहा, ‘विकेट गिरने पर हमें पुराने तरीकों से मना मनाना होगा जहां हम अपनी जगह खड़े रह कर ताली बजाते हुए खुशी का इजहार करेगे। शायद हम नमस्ते या शायद सिर्फ ‘हाई फाइव’ करें। ‘

लॉकडाउन के बाद खिलाड़ियों को अभ्यास की जरूरत होगीखेल मंत्रालय ओल खेलों के लिए राष्ट्रीय समर्थकों को फिर से शुरू करने की योजना बना रहा है, लेकिन बीसीसीआई ने अभी तक ऐसी कोई योजना नहीं बनायी है। रहाणे (अजिंक्य रहाणे) ने कहा कि लॉकडाउन के बीच वह अपनी फिटन पर ध्यान दे रहे हैं। खिलाड़ी के तौर पर मैदान में उतरने से पहले की चुनौती के बारे में अक्सर पूछे जाने वाले सवाल पर इस बल्लेबाज ने कहा कि इसके लिए कम से कम तीन से चार सप्ताह के कड़े अभ्यास की जरूरत होगी। देश के लिए 65 टेस्ट, 90 एकदिवसीय और 20 टी 20 अंतरराष्ट्रीय खेलने वाले इस खिलाड़ी ने कहा, ‘मुझे लगता है कि किसी भी मैच (घरेलू या आंतरिक) को खेलने से पहले किसी भी क्रिकेटर को मैदान और नेट पर तीन-चार सप्ताह या एक महीने में चाहिए। जोड़ों का अभ्यास होना चाहिए। ‘

उन्होंने कहा, ‘मैं अभी घर पर अभ्यास कर अपनी फिटन पर ध्यान दे रहा हूं। मैं फिट के लिए निश्चित रूप से, योग-ध्यान और कराटे का सहारा ले रहा हूँ। मुझे ट्रेनर से इससे संबंध में कार्यक्रम मिला है। मैं इसी के साथ काम कर रहा हूं। ‘ उन्होंने कहा, ‘मुझे अपनी बल्लेबाजी की कमी महसूस हो रही है लेकिन जाहिर है कि क्रिकेट तभी शुरू होना चाहिए जब चीजें अच्छी हों।’

गेंद को चमकाने के नियम बदल जाएंगे तो क्या होगा?

गेंद पर लार और पसीने के इस्तेमाल को रोकने की अटकलों के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा, नहीं मुझे पता नहीं है कि इस मामले पर आईसीसी (आंतरिक क्रिकेट परिषद) और दूसरे क्रिकेट बोर्ड क्या फैसला करेंगे। व्यक्तिगत रूप से मैं इस को विभाजित -19 के दौर को खत्म होने का इंतजार करूँगा। जब क्रिकेट शुरू होगा तब हम सबको पता चल जाएगा क्या नियम होगा ‘

ऑस्ट्रेलिया का दौरा चुनौतीपूर्ण होता है

टेस्ट में 11 शतक की मदद से 4203 रन बनाने वाले होने (अजिंक्य रहाणे) ने कहा कि ऑस्ट्रेलिया में उनका सामना करना पड़ता है लेकिन अभी भी सब का स्वास्थ्य जरूरी है।
भारतीय टेस्ट उपकप्तान ने कहा, ‘ऑस्ट्रेलिया में ऑस्ट्रेलिया का सामना करना हमेशा मुश्किल रहा है। वे शानदार टीम हैं। लेकिन अभी तक मैं क्रिकेट के बारे में नहीं सोच रहा हूं। सबका स्वास्थ्य जरूरी है। जब चीजें ठीक होंगी तो इस बार होगी सरकार, क्रिकेट बोर्ड और आईसीसी फैसला करेगी। ‘

पार्थिव पटेल ने किया खुलासा, मैच के दौरान ऑस्ट्रेलियाई दिग्गज ने दी थी कप्तानी

News18 हिंदी सबसे पहले हिंदी समाचार हमारे लिए पढ़ना यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर । फोल्ट्स। देखिए क्रिकेट से संलग्न लेटेस्ट समाचार।

प्रथम प्रकाशित: 6 मई, 2020, 3:49 PM IST


इस दिवाली बंपर अधिसूचना
फेस्टिव सीजन 75% की एक्स्ट्रा छूट। केवल 289 में एक साल के लिए सब्सक्राइब करें करें मनी कंट्रोल प्रो।कोड कोड: DIWALI ऑफ़र: 10 नवंबर, 2019 तक

->





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *