सहवाग से भी मंदानी बल्लेबाजी करने वाला भारतीय!

आज ही के दिन दलीप सिंह (दलीपसिंहजी) ने खेली थी चमत्कारी पारी, 33 चौके और एक छक्के की मदद से ठोके थे 333 रन

नई दिल्ली। भारतीय क्रिकेट इतिहास में सबसे तूफानी शिष्यों की बात की जाए तो वीरेंद्र सहवाग (वीरेंद्र सहवाग) उस लिस्ट में सबसे ऊपर माने जाते हैं। इस पूर्व भारतीय ओपनर ने एक नहीं दो बार तिहरे शतक लगाए हैं, वो भी धमाकेदार स्ट्राइक टैग के साथ। लेकिन बता दें हिंदुस्तान में एक हीरा ऐसा भी जन्मा था जो सहवाग से भी मंदानी पारी खेलता था। उन्होंने तब एक ही दिन में 333 रन ठोकते थे। बात हो रही है दलीप सिंह जी की जिसने आज के दिन मंदानी तिहरा शतक लगाकर पूरी दुनिया में हलचल मचा दी थी।

दलीप सिंह कौन थे?

दलीप सिंह (दलीपसिंहजी) वे महान क्रिकेटर हैं जिनके सम्मान में भारत में आज दलीप ट्रॉफी खेली जाती है। दलीप सिंह के चाचा रणजीत सिंह जिनके नाम से भारत का सबसे बड़ा घरेलू टूर्नामेंट रणजी ट्रॉफी होता है। दलीप सिंह का जन्म 5 दिसंबर 1905 को काठियावाड़ में हुआ था। दलीप सिंह अपने चाचा रणजीत सिंह की तरह ही कमल के आगंतुक थे। वर्ष 1926 में उन रणजी की सिफारिश पर इंग्लैंड के सबसे पुराने क्लब ससेक्स के लिए खेल गए। ये वही क्लब है जिसकी कप्तानी रणजी ने की थी।

दलीप सिंह के नाम पर ही खेली जाती है दलीप ट्रॉफी

दलीप सिंह (दलीपसिंहजी) ने ससेक्स के लिए कई ऐतिहासिक पारियां खेली और उनमें से सबसे खास पारी आज के दिन यानि 7 मई 1930 को होव के मैदान पर खेली गई थी। ससेक्स की ओर से खेल रहे दलीप सिंह ने नॉर्थैंट्स क्लब के गेंदबाजों की धज्जियां ही उड़ा दी। दलीप सिंह ने इस मुकाबले में महज 330 मिनट में 333 रन ठोक दिए थे। जिसमें उन्होंने 33 चौके और एक छक्का लगाया था। दिलचस्प बात यह है कि इस तस्वीर पर ससेक्स के दूसरे शिष्यों के लिए क्रीज पर टिकना भी मुश्किल हो रहा था। बॉले और पार्क्स सिर्फ 1 और 9 रन बनाकर पैवेलियन लौट गए। लेकिन तीसरे नंबर पर आए दलीप सिंह ने क्रीज पर उतरते ही विरोधी गेंदबाजों की खबरें शुरू कर दी।

दलीप सिंह (दलीपसिंहजी) के साथ रेजिनाल्ड पार्टिराज क्रीज पर जम गए जिन्होंने 111 रनों की पारी खेली। वहीं दलीप सिंह ने पहले शतक, फिर से शतक और जल्द ही तिहरा शतक ठोक दिया। दलीप सिंह ने महज 330 मिनट में 333 रन बनाए। उत्तर में नॉर्थैंट्स की टीम पहली पारी में 187 और दूसरी पारी में 125 रनों पर सिमटी। उनकी दोनों पारियों का स्कोर भी दलीप सिंह से 21 रन कम था।

इंग्लैंड के लिए टेस्ट क्रिकेट खेला गया

दलीप सिंह (दलीपसिंहजी) ने इंग्लैंड के लिए ही टेस्ट क्रिकेट खेला था। उन्होंने 12 टेस्ट में 58.52 के बेमिसाल औसत से 995 रन ठोके जिसमें 3 शतक और 5 अर्धशतक शामिल थे। दलीप सिंह का करियर बीमारी की वजह से जल्दी खत्म हो गया। इसके बाद वे भारत आए और 5 दिसंबर 1959 को मुंबई में हार्ट अटैक की वजह से उनका निधन हो गया।

सचिन के बारे में तो सुना सुना होगा, लेकिन उनके मास््टर की कहानी जानते हैं आप?

News18 हिंदी सबसे पहले हिंदी समाचार हमारे लिए पढ़ना यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर । फोल्ट्स। देखिए क्रिकेट से संलग्न लेटेस्ट समाचार।

प्रथम प्रकाशित: 7 मई, 2020, 5:59 AM IST


इस दिवाली बंपर अधिसूचना
फेस्टिव सीजन 75% की एक्स्ट्रा छूट। केवल 289 में एक साल के लिए सब्सक्राइब करें करें मनी कंट्रोल प्रो।कोड कोड: DIWALI ऑफ़र: 10 नवंबर, 2019 तक

->





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *