• इस फिटन चेन के भारत में लगभग 120 जिम हैं, ज्यादातर जिम महानगरों में ही हैं।
  • कंपनी ने तत्काल प्रभाव से अपने 30 जिम बंद करने का ऐलान कर दिया है।

दैनिक भास्कर

06 मई, 2020, 10:43 AM IST

नई दिल्ली। जिम में अपने जिम के लिए मशहूर गोल्ड जिम (गोल्ड जिम) ने अपने आपको दिवालिया घोषित करने का फैसला किया है। कंपनी ने अमेरिका में बैंक्रप्टसी प्रोटेक्शन फाइल कर दिया है। बता दें कि कोरोना संकट की वजह से दुनिया के ज्यादातर देशों में लंबे समय से लॉकडाउन लगा हुआ है। इस लॉकडाउन के कारण दुनिया के कई देशों की अर्थव्यवस्था बुरी तरह से प्रभावित हो रही है। इसका प्रभाव अब बड़ी-बड़ी कंपनियों पर भी पड़ रहा है। गोल्ड जिम का व्यवसाय भी चौपट होने के कगार पर है।

०० से अधिक जिम में
बता दें कि कंपनी गोल्ड ब्रैंड के नाम से जानने में 700 से अधिक जिम चलाती है, जिसमें ज्यादातर फ्रैंचाइजी हैं और लोगों के बीच यह काफी प्रसिद्ध है। यह जिम पिछले पचास साल से फिटकरी का कारोबार चला रहा है। कंपनी के संस्थापक जो गोल्ड ने सबसे पहले जिम वेनिस और नोकिया में खोला था।

कंपनी ने हम वापस आ गए
कंपनी के सीईओ एडम जिटसिफ ने वीडियो बयान में कहा, ‘कोरोना वायस संकट की वजह से हमारी बिजनस कीड़े तरह चौपट हुई, जिसके लिए हमें तत्काल और निर्णायक कदम उठाने की जरूरत थी, इसलिए हम फिर से उठ खड़े हो सकते हैं।’ उन्होंने अपने ग्राहकों और कर्मचारियों को आश्वस्त किया कि अगर जल्द नहीं तो कंपनी ने अगस्त तक इस बैंक्रप्टसी प्रॉटेक्शन से बाहर निकलने की कोशिश की है। साथ ही यह भी कहा कि ‘हम कहीं नहीं जा रहे हैं।’

अमेरिका में 30 जिम बंद हैं
गोल्ड जिम ने अमेरिका में चैप्टर 11 के तहत राहत मांगते हुए याचिका दायर की है कि उन्हें दिवालिया घोषित कर दिया जाए। कंपनी ने कहा है कि लॉकडाउन में बिजनेस पूरी तरह से ठप पड़ गया है। कंपनी के इस कदम से उसके स्वामित्व वाली 30 जिम बंद हो जाएगी।

भारत में भी 120 जीबी जिम है
मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, इस फिटन चेन के भारत में लगभग 120 जिम हैं। ज्यादातर जिम महानगरों में ही हैं। गोल्ड जिम रसूख वालों और अमीरों के लिए एक क्लास जिम माना जाता है। इस जिम में ज्यादातर सालाना पैकेज पर ही सब्सिडी दी जाती है। अगर जियो जिम दिवालिया घोषित हुआ तो भारत में भी हजारों लोग इससे प्रभावित होंगे। उल्लेखनीय है कि भारत में गोल्ड जिम ने 2002 में मुंबई से अपने व्यवसायों की शुरुआत की थी।





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *