ख़बर सुनता है

वैश्विक महामारी कोरोनावायरस से सबसे ज्यादा प्रभावित देश अमेरिका में स्थिति धीरे-धीरे सामान्य होने लगी है। अमेरिका के मोंटाना राज्य में स्कूलों को फिर से खोला जा रहा है। गुरुवार को राज्य के विलो क्रीक स्कूल को खोला गया। इस दौरान छात्रों को एक-दूसरे से दूरी बनानेकर खड़े होने को कहा गया और स्कूल में प्रवेश से पहले उनके तापमान की जांच की गई।

स्कूलों के फिर से खुलने से बच्चों सहित उनके माता-पिता भी उत्साहित हैं। वहीं, अमेरिका के 48 राज्य और वाशिंगटनड ने आदेश दिया है कि कोरोनावायरस महामारी के कारण शैक्षणिक वर्ष के अंत तक स्कूल बंद कर दिया जाए। दूसरी ओर अमेरिकी राज्य मोंटाना और इडाहो में इस सप्ताह से स्कूल खुल गया है। जबकि कुछ हफ्तों बाद से ही स्कूलों में गर्मियों की पढ़ाई शुरू हो रही है।

मोंटाना के गवर्नरविच बुलॉक ने पिछले महीने कहा था कि राज्य के स्कूल सात मई तक वापस खुल सकते हैं, हालांकि यह स्थानीय जिला प्रशासन पर निर्भर करेगा कि वह स्कूलों को खोलना चाहते हैं या नहीं।

विलो क्रीक स्कूल ग्लाटिन काउंटी में स्थित है। मोंटाना के सभी काउंटियों में से सबसे ज्यादा कोविड -19 के मामले ग्लाटिन काउंटी में ही सामने आए थे। जहां 146 लोग कोरोनावायरस से संक्रमित थे और एक व्यक्ति की इस खतरनाक वायरस से मौत हुई थी। राज्य स्वास्थ्य विभाग के अनुसार, सभी गंभीर रोगी अब ठीक हो चुके हैं और काउंटी में अब एक भी सक्रिय मामला नहीं है।

विलो क्रीक स्कूल की प्रधानाचार्य बोनी लोवर ने कहा कि ज्यादातर अभिभावक स्कूल को खोलने के पक्ष में थे, यहां तक ​​कि वे कुछ हफ्तों तक भी स्कूल खोले जाने का समर्थन कर रहे थे। उन्होंने कहा कि हमने सभी अभिभावकों को स्कूल खोलने को लेकर मतदान करने को कहा, जिसमें से 76% ने स्कूल को फिर से खोलने का समर्थन किया।

विलो क्रीक में पढ़ने वाले दो छात्रों की मां एरिक वाहल ने कहा कि बच्चे स्कूल के दोबारा खुलने से बेहद उत्साहित हैं। वे खुश हैं कि उन्हें फिर से स्कूल जाने का मौका मिल रहा है। उन्होंने कहा कि दोनों बच्चे अपने दोस्तों और अध्यापकों को याद कर रहे थे।

वाहल ने कहा कि मैं उनपर (स्कूल) सालों से अपने बच्चों की देखभाल करने को लेकर भरोसा कर रहा हूं। इसलिए अब भी मैं उनपर भरोसा जता रहा हूं।

वैश्विक महामारी कोरोनावायरस से सबसे ज्यादा प्रभावित देश अमेरिका में स्थिति धीरे-धीरे सामान्य होने लगी है। अमेरिका के मोंटाना राज्य में स्कूलों को फिर से खोला जा रहा है। गुरुवार को राज्य के विलो क्रीक स्कूल को खोला गया। इस दौरान छात्रों को एक-दूसरे से दूरी बनानेकर खड़े होने को कहा गया और स्कूल में प्रवेश से पहले उनके तापमान की जांच की गई।

स्कूलों के फिर से खुलने से बच्चों सहित उनके माता-पिता भी उत्साहित हैं। वहीं, अमेरिका के 48 राज्य और वाशिंगटनड ने आदेश दिया है कि कोरोनावायरस महामारी के कारण शैक्षणिक वर्ष के अंत तक स्कूल बंद कर दिया जाए। दूसरी ओर अमेरिकी राज्य मोंटाना और इडाहो में इस सप्ताह से स्कूल खुल गया है। जबकि कुछ हफ्तों बाद से ही स्कूलों में गर्मियों की पढ़ाई शुरू हो रही है।

मोंटाना के गवर्नरविच बुलॉक ने पिछले महीने कहा था कि राज्य के स्कूल सात मई तक वापस खुल सकते हैं, हालांकि यह स्थानीय जिला प्रशासन पर निर्भर करेगा कि वह स्कूलों को खोलना चाहते हैं या नहीं।

विलो क्रीक स्कूल ग्लाटिन काउंटी में स्थित है। मोंटाना के सभी काउंटियों में से सबसे ज्यादा कोविड -19 के मामले ग्लाटिन काउंटी में ही सामने आए थे। जहां 146 लोग कोरोनावायरस से संक्रमित थे और एक व्यक्ति की इस खतरनाक वायरस से मौत हुई थी। राज्य स्वास्थ्य विभाग के अनुसार, सभी गंभीर रोगी अब ठीक हो चुके हैं और काउंटी में अब एक भी सक्रिय मामला नहीं है।

विलो क्रीक स्कूल की प्रधानाचार्य बोनी लोवर ने कहा कि ज्यादातर अभिभावक स्कूल को खोलने के पक्ष में थे, यहां तक ​​कि वे कुछ हफ्तों तक भी स्कूल खोले जाने का समर्थन कर रहे थे। उन्होंने कहा कि हमने सभी अभिभावकों को स्कूल खोलने को लेकर बल्लेबाजी को कहा, जिसमें से 76% ने स्कूल को फिर से खोलने का समर्थन किया।

विलो क्रीक में पढ़ने वाले दो छात्रों की मां एरिक वाहल ने कहा कि बच्चे स्कूल के दोबारा खुलने से बेहद उत्साहित हैं। वे खुश हैं कि उन्हें फिर से स्कूल जाने का मौका मिल रहा है। उन्होंने कहा कि दोनों बच्चे अपने दोस्तों और अध्यापकों को याद कर रहे थे।

वाहल ने कहा कि मैं उनपर (स्कूल) सालों से अपने बच्चों की देखभाल करने को लेकर भरोसा कर रहा हूं। इसलिए अब भी मैं उनपर भरोसा जता रहा हूं।





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *