• अमेरिका में 24 घंटे में 2073 लोगों की जान गई और 25 हजार 459 केस मिले
  • यहां अब तक 12.63 लाख आश्रय हैं, जबकि 74 हजार 809 लोगों की मौत हुई

दैनिक भास्कर

07 मई, 2020, 03:16 बजे IST

वॉशिंगटन। दुनिया में कोरोनावायरस से अब तक दो लाख 65 हजार लोगों की मौत हो चुकी है। 38 लाख 21 हजार 687 लोग हैं, जबकि 12 लाख 99 हजार 417 ठीक हो चुके हैं। स्पेन के प्रधानमंत्री पेड्रो संचेज की सरकार ने आलोचनाओं के बाद 24 मई तक इमरजेंसी बढ़ा दी है। वहीं, रूस में संक्रमण के 11 हजार नए मामले सामने आए हैं और 88 लोगों की जान गई है। देश में विविधों की संख्या एक लाख 77 हजार से ज्यादा हो गई है, जबकि 1625 लोगों की मौत हो चुकी है।
कोरोनावायरस: सबसे ज्यादा 10 देश

देश र्ाणें संक्रमित बहुत मौत हो गई कितना ठीक है?
अमेरिका 12,63,092 74,799 2,12,981
स्पेन 2,53,682 25,857 1,59,359
इटली 2,14,457 29,684 93,245
ब्रिटेन 2,01,101 30,076 उपलब्ध नहीं है
फ्रांस 1,74,191 25,809 53,972
जर्मनी 1,68,162 7275 1,37,696
रूस 1,77,160 1625

23,803

तुर्की 1,31,744 3584 78,202
ब्राजील 1,26,611 8,588 51,370
ईरान 1,01,650 6418 81,587

ये आंकड़े https://www.worldometers.info/coronavirus/ से लिए गए हैं।

अप्रैल में हर दिन औसतन 80 हजार केस मिले: डब्ल्यूएचओ

विश्व स्वास्थ्य ऑर्गेनाइजेशन (डब्ल्यूएचओ) ने बुधवार को कहा कि अप्रैल में हर दिन औसतन 80 हजार के अंतर के मामले में सामने आएंगे। भारत और बांग्लादेश जैसे दक्षिण एशियाई देशों में संक्रमण में तेजी देखी जा रही है। जबकि पश्चिमी यूरोप के देशों में कमी आ रही है। इस दौरान पूर्वी यूरोप के देशों, अफ्रीका, दक्षिण-पूर्व एशिया और अमेरिका से ज्यादा मामले सामने आए हैं।

अमेरिका: न्यूयॉर्क में एक दिन में 232 जानें गईं

अमेरिका में 24 घंटे में 2073 लोगों की जान गई और 25 हजार 459 केस मिले। यहां मृतकों की संख्या 75 हजार के करीब हो गई है। वहीं, 12 लाख 63 हजार से ज्यादा खर्च हो चुके हैं। न्यूयॉर्क के गवर्नर पॉल क्यूमो ने बुधवार को बताया कि राज्य में एक दिन में 232 लोगों ने जान गंवाई है। इनमें से 207 की मौत अस्पताल में और 24 की नर्सिंग होम में हुई है। अब यहाँ संक्रमण और मौतों में कमी आ रही है।

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने बुधवार को कहा कि व्हाइट हाउस कोरोना टास्क फोर्स खत्म नहीं किया जाएगा। एक दिन पहले उन्होंने और उपराष्ट्रपति माइक पेंस ने इसे खत्म कर अर्थव्यवस्था खोलने वाला समूह बनाने की बात कही थी। लेकिन अब यह पैनल वक्सीन बनाने पर ध्यान केंद्रीत करेगा।

न्यूयॉर्क में लोगों ने स्वास्थ्यकर्मियों का उत्साह बढ़ाने के लिए तालियां बजाईं। राज्य में एक दिन में 232 लोगों की जान गई है।

कोरोना अब तक सबसे बुरा हमला: ट्रम्प
ट्रम्प ने बुधवार को कोरोना संक्रमण की तुलना पर्ल हार्बर पर हुई हमले से की। उन्होंने कहा कि यह अब तक देश पर हुआ सबसे बुरा हमला है। अगर चीन समय रहते कदम उठाता है तो यह महामारी पूरी दुनिया को अपने चपेट में नहीं लेती। 7 दिसंबर 1941 को हुए इस हमले में लगभग ढाई हजार अमेरिकियों की जान गई थी।

ब्रिटेन: 2 लाख से अधिक राशि
ब्रिटेन में एक दिन में 649 लोगों की मौत हुई है और लगभग पांच हजार नए मामले सामने आए हैं। इसके साथ ही देश में चेतों की संख्या दो लाख से ज्यादा हो गई है। साथ ही 30 हजार 76 लोगों की जान जा चुकी है। देश में सोमवार से प्रतिबंधों में ढील दी जा सकती है। पीएम बोरिस जॉनसन ने संक्रमण से ठीक होने के बाद पहली बार संसद में कहा कि हर व्यक्ति की मौत त्रासदीपूर्ण है।

लॉकडाउन के बीच लंदन की सड़कों पर सन्नाटा पसरा है। इस बीच एक युवक मुखौटे पहनकर सड़क से गुजरता हुआ हुआ।

इटली: मृतकों की लगातार कमी
इटली में 24 घंटे के दौरान 369 लोगों की मौत हुई है। नागरिक सुरक्षा विभाग ने बुधवार को कहा कि छह मई तक देश में टाइपों की संख्या 2 लाख 14 हजार 457 हो गई है। इटली यूरोप में कोरोना से सबसे ज्यादा प्रभावित देशों में से एक है। वहीं, सबसे ज्यादा मौत ब्रिटेन में हुई हैं।

इटली में रेस्तरां और बार खोलने की मांग को लेकर खाली कुर्सियों के साथ प्रदर्शन किया गया।

द .कोरिया: चींटियों की संख्या 10,810
दक्षिण कोरिया में एक दिन में चार रोगी मिले। अब तक 10 हजार 810 लोग हो चुके हैं। स्वास्थ्य मंत्रालय के रोग नियंत्रण एवं रोकथाम केंद्र (केसीडीसी) ने गुरुवार को बताया कि 24 घंटे के दौरान इस महामारी से केवल एक व्यक्ति की मौत हुई है। मृतकों की संख्या 256 हो गई है। द। कोरिया में संक्रमण के प्रसार में काफी कमी आई है। यह देखता है कि प्रशासन ने सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों में कुछ ढील देने की घोषणा की है। देश में अब तक 6 लाख 30 हजार लोगों की कोरोना जांच की गई है।

दक्षिण कोरिया में बेसबॉल मैच के दौरान चीयरलीडर्स भी पहने पहने नजर आईं।

आरोप लगाने के बजाए महामारी पर ध्यान दे अमेरिका: चीन
अमेरिका में चीनी राजदूत सूट तीआंकी ने अमेरिकी सरकार को आरोप-प्रत्यारोप लगाने का खेल बंद कर महामारी से निपटने की सलाह दी। उन्होंने कहा- चीन पर आरोप लगाने का सही नहीं होगा, क्योंकि इससे महामारी के खिलाफ लड़ाई कमजोर होगी। हमेशा चीन को कोसने की प्रवृति राजनितिक लाभ के लिए की जाने वाली गंदी राजनीति है। महामारी से चीन सबसे पहले पीड़ित होने वाला देश था, इसलिए जिम्मेदार ठहराने का सवाल ही नहीं होता। यदि चीन को कोरोना से हुए नुकसान की भरपाई करनी होगी तो अमेरिका को भी 2008 में हुए वित्तीय संकट के लिए भरपाई करनी चाहिए।

सीरिया: प्रतिबंधों को हटा देगा
सीरिया प्रतिबंधों को हटा देगा। 10 मई से राज्यों में सार्वजनिक परिवहन की अनुमति दी जाएगी। स्कूल 31 मई से खोले जाएंगे। सरकार के कोरोनाबिलिटी सेंटर ने बुधवार को बयान जारी करते हुए कहा, “देश के सभी प्रांतों में सार्वजनिक और निजी क्षेत्रों में सभी प्रकार के व्यक्तिगत परिवहन के संचालन को फिर से शुरू किया जाएगा। हालांकि, इस दौरान सोशल डिस्टेंसिंग का ध्यान रखा जाएगा। सिंड पश्चिमी एशिया में सबसे कम प्रभावित देशों में से एक है। यहां अभी तक 45 मामलों की पुष्टि हुई है औऱ तीन की मौत हुई है।





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *